सहयोगी, रिवालसर : व्यापार मंडल रिवालसार का दो गुटों में बंटाधार  हो गया है। वर्तमान व्यापार मंडल की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट चल रहे व्यापारियों के एक धड़े ने अलग होकर नए गुट का गठन कर दिया है। दिनेश शर्मा को नए गुट ने कमान सौंपी है। रिवालसर के व्यापारियों के एक गुट ने  सेवानिवृत्त सहायक अभियंता एमएल भारद्वाज की अध्यक्षता में बैठक आयोजित कर बलदेव ठाकुर को उपप्रधान, तेज ¨सह ठाकुर को महासचिव तथा लेखराम ठाकुर को कोषाध्यक्ष चुना गया।

नवनियुक्त प्रधान दिनेश शर्मा ने बताया कि व्यापार मंडल ने व्यापारियों के हितों  की अनदेखी की है। कुर्सी के लालच में कई सालों से पद पर चिपके हुए हैं। लोकतांत्रित तरीके से चुनाव करवाने के आग्रह करने के बाद भी चुनाव प्रक्रिया अमल में नहीं लाई गई। इसके चलते  रिवालसर बाजार के अधिकतर व्यापारियों ने इनसे किनारा करना उचित समझा। उन्होंने रिवालसार बाजार  के 100 से  अधिक व्यपारियों के समर्थन का दावा जताया है। दिनेश ने नई कार्यकारिणी का  शीघ्र विस्तार करने का फैसला किया है।  

नई कार्यकारिणी गैरकानूनी

ढमेश्वर वर्तमान व्यापार मंडल के प्रधान ढमेश्वर ठाकुर का कहना है कि नई कार्यकारिणी व्यापार मंडल के नियमों के खिलाफ है। कार्यकारिणी में ऐसे लोगों को शामिल किया गया है। जिनकी रिवालसर में दुकानें नहीं हैं और वे व्यापारी भी नहीं हैं। कुछ लोगों ने बैठकर जो कार्यकारिणी बनाई है वे गैरकानूनी  है। इस गुट की ओर से किया गया फैसला हताशा व निराशा को दर्शाता है। बैठक में रिवालसर के व्यापारियों ने किनारा करना उचित समझा है। रिवालसर के व्यापारियों की 30 सितंबर तक रजिस्ट्रेशन का समय रखा गया है।