जागरण संवाददाता, मंडी : सांसद प्रतिभा सिंह ने कहा कि वह क्षेत्र के लोगों की समस्याएं सुनने के बाद उनकी मांग के अनुरूप मुद्दे संसद में उठाएंगी। चुनाव जीतने के बाद वह लोगों के बीच जाकर उनकी समस्याएं सुन रही हैं। सांसद निधि के आवंटन के लिए खाका तैयार किया जा रहा है ताकि सभी 17 विधानसभा क्षेत्रों में निधि का बराबर बंटवारा हो सके। रेलवे व पर्यटन का मुद्दा उनकी प्राथमिकता में शामिल है।

प्रतिभा सिंह ने मंडी में पत्रकारों से कहा कि इस बार का उपचुनाव बहुत कठिन था। केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार के अलावा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर मंडी जिला से संबंध रखते हैं। उन्होंने मेरी मंडी का नारा देकर क्षेत्रवाद को बढ़ावा देने की कोशिश की। इससे पूर्व मंडी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी सवा चार लाख मतों से पराजित हुए थे। हमें पिछले इस अंतर को कम कर जीत सुनिश्चित करनी थी। डर लग रहा था कि ऐसे हालात में जीत पाएंगे कि नहीं लेकिन मंडी संसदीय क्षेत्र की जनता ने साथ दिया और पिछली हार के अंतर को पार कर आठ हजार से जीत दिलवाई। पूर्व में सांसद रहते हुए भी मैंने मंडी संसदीय क्षेत्र की आवाज उठाई है। रोहतांग टनल को लेकर वह पूर्व मंत्री फुंचुंग राय व अन्य लोगों का प्रतिनिधिमंडल लेकर तत्कालीन प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह से मिली थीं। डा. मनमोहन सिंह ने न केवल रोहतांग टनल के लिए बजट की व्यवस्था की बल्कि सोनिया गांधी ने रोहतांग टनल का शिलान्यास किया था। कमांद में आइआइटी व नेरचौक मेडिकल कालेज कांग्रेस सरकार की देन है।

प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से प्रदेश की तीनों हवाई पट्टियों के विस्तारीकरण का मुद्दा भी संसद में उठाया था। बड़े हवाई जहाज यहां उतरने से यात्रियों का भाड़ा भी कम होगा और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। हर बार रेलवे का मुद्दा उठाया मगर निराशा के सिवाय कुछ नहीं मिला।

Edited By: Jagran