संवाद सहयोगी, मंडी : मानसून सीजन के दौरान मंडी जिला में पौधे रोपकर पर्यावरण को सहेजा जाएगा। वन विभाग मंडी जिला की 23 रेंज में विभिन्न प्रजातियों के 14.14 लाख पौधे रोपेगा। इससे मंडी वन वृत्त के 2030 हेक्टेयर क्षेत्र में हरियाली छाएगी। वन विभाग की 106 नर्सरियों में 38.96 लाख पौधे तैयार हो गए हैं।

वन विभाग ने पौधरोपण के लिए सभी वन रेंज में अलग-अलग स्थान चिह्नित कर लिए हैं। पौधे लगाने के लिए कई स्थानों पर गड्ढे कर क्षेत्र की बाड़बंदी भी कर दी गई है। पौधे रोपने के लिए वन विभाग फील्ड कर्मचारियों के लिए एनसीसी कैडेट्स, पंचायत प्रतिनिधियों के साथ विभिन्न सामाजिक संस्थाओं का भी सहयोग लेगा। प्रदेश में मानसून ने दस्तक दे दी है। वन विभाग ने हर साल की तरह इस साल भी पौधारोपण करने का शेड्यूल तय कर लिया है। सभी वनमंडलों से मांग के अनुसार विभिन्न प्रजातियों के पौधों का स्टाक तैयार कर दिया गया है। वन मंडलाधिकारी अपने वनमंडल में पौधों की खेप पहुंचाएंगे। मंडी वन वृत्त में कमांद नर्सरी समेत 100 से अधिक नर्सरियां हैं। विभिन्न नर्सरियों में करीब 39 हजार पौधे लहलहा रहे हैं। इन प्रजातियों के पौधे रोपे जाएंगे

पौधारोपण के लिए तैयार पौधों को मानसून सीजन में उनकी आबोहवा के अनुकूल स्थानों पर रोपा जाएगा। देवदार, बान, दाड़ू, आंवला, हरड़, भेहड़ा समेत अन्य प्रजाति के पौधे रोपे जाएंगे। वन विभाग के कर्मी करेंगे पौधों की देखरेख

पौधरोपण अभियान शुरू करने के लिए अभी तिथि निर्धारित नहीं की गई है। हालांकि 15 जुलाई के आसपास पौधारोपण शुरू किया जाएगा। पौधों की देखरेख का जिम्मा वन विभाग के कर्मचारियों के हवाले होगा।

मंडी वन वृत्त में मानसून सीजन में होने वाले पौधारोपण अभियान की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। विभिन्न नर्सरियों में अलग-अलग प्रजाति के पौधे पौधारोपण के लिए तैयार हैं। इस साल एनसीसी कैडेट्स भी अन्य संस्थाओं के सदस्यों के साथ मिलकर पौधारोपण अभियान में योगदान देंगे।

-एचवी कथूरिया, अरण्यपाल, वन वृत्त मंडी

Edited By: Jagran