मंडी, जेएनएन। अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव में लोगों को अगले साल से जिलेभर के देवी-देवताओं के दर्शन करने का सौभाग्य प्राप्त होगा। जल शक्ति, बागवानी व सैनिक कल्याण मंत्री महेंद्र्र सिंह ठाकुर  ने मेला आयोजकों को अगले साल से जिलेभर के देवी देवताओं की भागीदारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। सर्व देवता समिति को नए देवी-देवताओं के पंजीकरण के लिए कारगर कदम उठाने को कहा है।

महोत्सव की पुरातन परंपराओं को सहेजने के साथ इस बार लीक से कुछ हटकर करने पर जोर दिया। वह शुक्रवार को उपायुक्त सभागार में महोत्सव की आम सभा की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। महोत्सव के लिए इस बार 216 देवी-देवताओं को निमंत्रण दिया गया है। पड्डल मैदान की नीलामी से आयोजकों को 2.09 करोड़ रुपये की आय हुई है, जो गत वर्ष के मुकाबले 20 लाख अधिक है। टिकट की ब्रिकी से 20 लाख की आय होगी। विज्ञापन के माध्यम से आय के स्रोत सृजित होंगे। शहर के अलावा पड्डल मैदान में विज्ञापन से संबंधित होर्डिंग्स लगाए जाएंगे। शिवरात्रि महोत्सव के दौरान छोटी काशी को सात सेक्टर में बांटा जाएगा। हर सेक्टर में एक राजपत्रित अधिकारी निगरानी करेगा। इसके साथ ही 800 पुलिस के जवान और 200 गृहरक्षक कानून व्यवस्था देखेंगे। 

अंरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव में प्राचीन जलेब की परंपराओं का निर्वहन किया जाएगा। राजदेवता माधोराय की पालकी प्राचीन परंपराओं के अनुसार जलेब की रौनक के साथ पड्डल से वापस मंदिर तक पहुंचाई जाएगी। वापसी में राजदेवता माधोराय की पालकी संग कुछ देवी-देवताओं के साथ मंत्री भी पैदल लौटेंगे। 

 सभी की सहभागिता तय बनाने पर जोर दे रही महोत्सव समिति

शिवरात्रि महोत्सव समिति के अध्यक्ष एवं उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने कहा समिति महोत्सव को सफल बनाने के लिए समुचित प्रबंध करने में जुटी है। सभी लोगों की सहभागिता से महोत्सव को भव्य व अनूठा स्वरूप दिया जाएगा। समिति ने इस बार पड्डल मैदान में 150 वाहनों की पार्किंग व्यवस्था की है। इससे महोत्सव में आने वाले लोगों को सुविधा मिलेगी।

 22, 25 व 28 फरवरी को निकलेगी जलेब

22 से 28 फरवरी तक मनाए जाने वाले इस महोत्सव का आगाज मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर करेंगे। वह 22 फरवरी को प्रथम जलेब की अगुआई करेंगे। मध्य जलेब 25 फरवरी को निकलेगी। तीसरी व अंतिम जलेब में 28 फरवरी को राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय शामिल होंगे।

23, 24 व 25 को होगी कबड्डी स्पर्धा 

अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव में विभिन्न प्रकार की खेलकूद प्रतियोगिताएं होंगी। इसमें कबड्डी प्रतियोगिता 23, 24 व 25 फरवरी को होगी। पुलिस अधीक्षक मंडी गुरदेव शर्मा ने बताया है कि कुश्ती स्पर्धा 26, 27 व 28 और महिलाओं की रस्साकशी 27 को होगी। इसके अलावा कराटे स्पर्धा 24 फरवरी को होगी। 

सांस्कृतिक संध्या में हिमाचली कलाकारों को मिलेगा मंच

22 से 27 फरवरी तक छह सांस्कृतिक संध्याएं होंगी। हिमाचली कलाकारों को मौका दिया जाएगा। इसके अलावा एक-एक सांस्कृतिक संध्या पंजाबी और बॉलीवुड कलाकारों के नाम होगी। महोत्सव में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत फैशन शो भी होगा।

जलेब की पुरातन परंपरा को पुन: स्थापित करें

महेंद्र्र सिंह ठाकुर ने देवता उप समिति से महोत्सव में जलेब की पुरातन परंपरा को पुन: स्थापति करने पर जोर दिया। साथ ही टारना मंदिर में बड़ा देव कामरूनाग के बैठने की अच्छी व्यवस्था करने के निर्देश दिए। महोत्सव के आयोजन से जुड़ी सारी प्रक्रिया लिपिबद्ध करने के प्रयासों की सराहना की।

22, 25 व 28 फरवरी को निकलेगी जलेब

22 से 28 फरवरी तक मनाए जाने वाले इस महोत्सव का आगाज मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर करेंगे। वह 22 फरवरी को प्रथम जलेब की अगुआई करेंगे। मध्य जलेब 25 फरवरी को निकलेगी। तीसरी व अंतिम जलेब में 28 फरवरी को राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय शामिल होंगे।

23, 24 व 25 को होगी कबड्डी स्पर्धा 

अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव में विभिन्न प्रकार की खेलकूद प्रतियोगिताएं होंगी। इसमें कबड्डी प्रतियोगिता 23, 24 व 25 फरवरी को होगी। पुलिस अधीक्षक मंडी गुरदेव शर्मा ने बताया है कि कुश्ती स्पर्धा 26, 27 व 28 और महिलाओं की रस्साकशी 27 को होगी। इसके अलावा कराटे स्पर्धा 24 फरवरी को होगी। 

शैवाल एयर प्यूरीफायर, 98 प्रतिशत तक हानिकारक गैसों का करेगा खात्मा

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस