संवाद सहयोगी, जोगेंद्रनगर : जोगेंद्रनगर के सार्वजनिक स्थानों में प्रशासन की टास्क फोर्स की सख्ती का असर दिखा। बाजार, बस अड्डा समेत अन्य स्थानों पर शनिवार को अनावश्यक भीड़ नहीं दिखी। विश्राम स्थल में लगे बैंच भी खाली नजर आए। हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की बसों में यात्रा करने वालों ने सामाजिक दूरी का पालन किया। सार्वजनिक कार्यालय बंद होने के कारण लोगों ने शहर का रुख नहीं किया।

हालांकि बैंकों में कामकाज के लिए काफी संख्या में लोग आए, लेकिन शारीरिक दूरी नियम का पालन करते दिखे। नागरिक अस्पताल जोगेंद्रनगर में भी सर्दी खांसी के मरीज उपचार के लिए आते रहे। मिनी सचिवालय के तमाम कार्यालय बंद थे। पुलिस थाना में भी लोगों के आने जाने का सिलसिला बेहद कम था। नगर परिषद, एसडीएम कार्यालय भी आम लोगों के लिए बंद था। इधर लडभड़ोल और चौंतड़ा बाजार में भी भीड़ नहीं देखी गई। कुछ अधिकारियों ने मोबाइल फोन पर ही लोगों की समस्याएं सुनी और उनका समाधान किया। जोगेंद्रनगर के सार्वजनिक स्थानों में भीड़ पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस और प्रशासन द्वारा गठित टीमें लगातार पेट्रोलिग कर हालात पर नजर बनाए हुए हैं। स्थानीय बस अड्डे में अनावश्यक भीड़ को देखते हुए पुलिस का पहरा और सख्त कर दिया है। अधिकारियों को अपने मोबाइल फोन स्विच आफ न करने की हिदायत दी है।

-डा. मेजर विशाल शर्मा, एसडीएम जोगेंद्रनगर। मंडी में फाइव डे वीक असर, कार्यालयों में पसरा सन्नाटा

फोटो सहित

संवाद सहयोगी, मंडी : फाइव डे वीक के पहले दिन शनिवार को शहर में व्यापक असर दिखाई दिया। उपायुक्त कार्यालय सहित समस्त विभागों के कार्यालय पूरी तरह से बंद रहे। शहर में वाहनों की आवाजाही अन्य दिनों की अपेक्षा कम ही देखने को मिली। उपायुक्त कार्यालय और पुलिस अधीक्षक कार्यालय में लोगों की चहल-पहल की जगह शनिवार को सन्नाटा पसरा रहा। शहर में खेल परिसर के साथ सटी सब्जी व फल की दुकानों में विक्रेता खरीदारों की राह ताकते रहे। वहीं शहर के चौहाटा बाजार में भी फल व सब्जी विक्रेताओं की आज अपेक्षाकृत कम ही रही। हालांकि शहर में 'नो मास्क नो सर्विस' का कम ही पालन हुआ।

व्यापार मंडल मंडी के अध्यक्ष राजेश महेंद्रू ने कहा कि सरकारी कार्यालयों में फाइव डे वीक का असर देखने को मिल रहा है। पहले शनिवार को 100 प्रतिशत आवाजाही रहती थी, लेकिन आज 20 से 30 प्रतिशत ही रही।

Edited By: Jagran