सहयोगी, गोहर : ढुंगाथर धार (गोहर) में सैलानी पैराग्लाइडिग का आनंद उठा सकेंगे। इससे स्थानीय लोगों के लिए रोजगार का साधन भी उपलब्ध होगा।

वीरवार को पर्यटन विभाग व पर्वतारोहण संस्थान मनाली की टेक्निकल टीम ने पैराग्लाइडिग के लिए गोहर की लोट पंचायत के तहत ढुंगाथर साइट को ट्रायल सफल होने के बाद हरी झंडी दे दी है। टीम रिपोर्ट विभाग को भेजकर 15 दिन में साइट अधिसूचित करेगी। इससे पहले पयर्टन विभाग ने ट्रायल के बाद सराज की स्पेणीधार साइट को हरी झंडी दी है। अब स्पेणीधार व ढुंगाथर साइट पर पैराग्लाइडर उड़ान भर सकते हैं। ढुंगाथर धार से जहल पैराग्लाइडिग साइट के लिए इस वर्ष निरीक्षण किया गया था। इस दौरान कागजी कार्रवाई अधूरी रहने पर कार्य सिरे नहीं चढ़ पाया था। यदि कवायद सफल रही तो यहां स्थानीय युवाओं के साथ पैराग्लाइडिग गतिविधियों का संचालन किया जाएगा। इससे स्वरोजगार के साधन भी बढे़ंगे। शक्तिपीठ माता शिकारी देवी के समीप इस स्थान से पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए साहसिक खेलकूद गतिविधियों पर फोकस किया जा रहा है।

ये रहे मौजूद

अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान मनाली के संयोजक जिमनर कुमार, पर्यटन विभाग के अधीक्षक एमएस मांटा, डीएफओ तीर्थराज धीमान, कानूनगो मोहन सिंह यादव, पाविराग पैराग्लाइडर निर्मल, जिला परिषद सदस्य हुकुम ठाकुर व पंचायत प्रतिनिधि। ढुंगाथर धार साइट बीड़ बिलिग की साइट को मात देगी। यहां से पौने एक घंटे की उड़ान सफल रही है। इसकी तकनीकी रिपोर्ट पर्यटन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को भेजी जाएगी।

-एसके पराशर, उपनिदेशक, पर्यटन विभाग

Edited By: Jagran