सहयोगी, रिवालसर : सात दिवसीय दुर्गापुर का नलवाड़ मेला रविवार को शुरू हुआ। इसमें समाजसेवी लक्की ठाकुर ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। उन्होंने कहा कि मेले प्राचीन संस्कृति की पहचान हैं। सालों से चली आ रही संस्कृति को संजोए रखना प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व है। बल्ह, व सरकाघाट  की सीमा पर सटे दुर्गापुर में मेले को प्राचीन समय से मनाया जाता है, मगर इस मेले को सरकारी मदद न मिलने से आयोजन को लेकर आíथक समस्या आड़े आती रहती है। इस दौरान सेरला खाबू स्कूल की की छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया। इससे पूर्व मेला समिति के अध्यक्ष ललित   ने मुख्य अतिथि का स्वागत किया। मुख्य अतिथि ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश करने वाली छात्राओं को पांच हजार व मेला समिति को 15 हजार दिए। इस मौके पर सेरला खबू के पूर्व प्रधान याद¨वद्र शर्मा, मेला समिति सदस्य प्रेम शर्मा , बलदेव, सेरला खाबू स्कूल प्रधानाचार्य राजेश, नरेश, हेमचंद, मुरारी, जितेंद व अन्य मौजूद रहे।

Posted By: Jagran