संवाद सहयोगी, मंडी : ग्रामीण क्षेत्रों से छिटक कर नगर निगम में शामिल क्षेत्रों में स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए प्रस्ताव पारित हो गया है। इन क्षेत्रों के वार्ड में करीब 800 स्ट्रीट लाइट लगाई जाएंगी। इस पर 3.79 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। नगर निगम इस राशि को दो, तीन दिन में राज्य विद्युत बोर्ड के पास जमा करवा देगा।

नगर निगम के टाउन हाल स्थित हाल में सातवीं बैठक निगम की मेयर दीपाली जसवाल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इसमें नगर निगम के आयुक्त राजीव कुमार भी उपस्थित रहे। डिप्टी मेयर वीरेंद्र भट्ट समेत निगम के सभी पार्षदों ने बैठक में भाग लिया। नगर निगम की मेयर दीपाली जसवाल ने बताया कि बैठक में विकास कार्यो को लेकर प्रस्ताव पारित किए गए। इन विकास कार्यो को अब धरातल पर उतार कर नगर निगम क्षेत्र में विकास की एक समान गंगा बहाई जाएगी। नगर निगम के 120 प्राकृतिक जलस्रोतों के साथ कुछ तालाबों का भी जीर्णोद्धार किया जाएगा। इसके लिए जलशक्ति विभाग को 3.29 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। प्राकृतिक जलस्रोतों की लंबे अरसे से अनदेखी के कारण इनकी हालत खराब हो गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में आने वाले वार्डो में आपदा प्रबंधन के तहत 31 लाख रुपये जारी किए गए हैं। इसके अलावा नगर निगम के वार्डों में लोगों के बैठने के लिए बैंच लगाने का भी प्रस्ताव पारित किया गया। नगर निगम के 535 विभिन्न स्थानों पर बैंच लगाए जाएंगे। बैंच लगाने का कार्य हैंडलूम एंड हेंडीक्राफ्ट कारपोरशन को सौंपा गया है। इस पर करीब 72 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

नगर निगम मंडी की साधारण सातवीं बैठक आयोजित की गई। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों में विकास कार्यो को लेकर विभिन्न प्रस्ताव पारित किए गए। शहरी क्षेत्र में भी बावड़ियों, तालाबों आदि के जीर्णोद्धार के लिए महत्वपूर्ण प्रस्ताव पारित किए गए हैं।

-दीपाली जसवाल, मेयर नगर निगम, मंडी

Edited By: Jagran