संवाद सहयोगी, मंडी : लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज नेरचौक में जल्द मेडिकल यूनिवर्सिटी शुरू होगी। इसे यहां नर्सिंग कॉलेज के साथ चलाया जाएगा। मंडी संसदीय क्षेत्र के सांसद रामस्वरूप शर्मा ने शनिवार को मेडिकल कॉलेज नेरचौक में आयोजित पौधरोपण कार्यक्रम में यह बात कही। कहा मेडिकल कॉलेज नेरचौक में दो वर्ष से एमबीबीएस की पढ़ाई चल रही है। अब जल्द अस्पताल यहां शुरू किया जा रहा है। उसी के साथ मेडिकल यूनिवर्सिटी की सौगात भी मंडी वासियों सहित प्रदेश के 12 जिलों को मिलेगी।

इस मामले को मुख्यमंत्री और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जगत प्रकाश नड्डा के सामने भी उठाया गया है। दोनों नेताओं ने इस पर ¨चता व्यक्त की है कि यहां अस्पताल चलाने में देरी हुई है, लेकिन अब ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। पैरा मेडिकल स्टाफ और फैकल्टी की भर्ती पूरी हो चुकी है, लेकिन चतुर्थ श्रेणी के करीब 500 पदों को भरने में अभी वक्त लग रहा है। जल्द इसका समाधान कर पीजीआइ स्तर की सुविधाएं यहां शुरू कर दी जाएंगी। लोगों को विशेषज्ञ चिकित्सा सेवाओं के लिए चंडीगढ़ या दिल्ली नहीं भागना पड़ेगा। करीब 1000 करोड़ रुपये खर्चकर लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल नेरचौक बनकर तैयार हुआ है। कुछ भाग पूर्व की कांग्रेस सरकार की लेटलतीफी के चलते अभी निर्माणाधीन बताया गया, लेकिन अब इसे भी अंतिम रूप दिया जा रहा है।

उन्होंने प्रधानाचार्य डा. रजनीश पठानिया को कार्यभार संभालने पर बधाई देते हुए कहा कि अब इस कॉलेज एवं अस्पताल को चलाने की जिम्मेदारी आपकी रहेगी। उन्होंने इससे पूर्व कॉलेज एवं अस्पताल भवनों का निरीक्षण किया। आपातकालीन सेवाओं को शुरू करने वाले वार्ड का जायजा भी लिया। इस अवसर पर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. रजनीश पठानिया, जिला परिषद की चेयरमैन सरला ठाकुर, मंडल भाजपा अध्यक्ष हेमपाल राणा, ज्वाइंट डायरेक्टर पंकज शर्मा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran