जागरण संवाददाता, मंडी : उपायुक्त सभागार में मंगलवार को प्रदेश विधानसभा कल्याण समिति की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता समिति के सभापति सुखराम चौधरी ने की। बैठक में समिति के सदस्य विधायक विनय कुमार, किशोरी लाल, र¨वद्र कुमार, इंद्र ¨सह गांधी, कमलेश कुमारी व रीता धीमान भी मौजूद रहे। बैठक में समाज के कमजोर वर्गों के उत्थान के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही  विभिन्न योजनाओं एवं अनुसूचित जाति उपयोजना के तहत किए जा रहे विकास कार्यों के संबंध में जिलास्तरीय अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया गया।

सभापति सुखराम चौधरी ने कहा 2022 तक कोई भी गरीब व असहाय व्यक्ति घर के बिना नहीं रहना चाहिए और सबको छत प्रदान करना सरकार की प्राथमिकता में है। इसके लिए संबंधित विभाग आपसी तालमेल व समन्वय से पुन: गंभीरता से सर्वें करें। सरकार भूमिहीनों को ग्रामीण स्तर पर तीन बिस्वा और शहरी क्षेत्र में दो बिस्वा भूमि मुहैया करवा रही है।

जिला में जिला कल्याण विभाग के माध्यम से वर्ष 2018-19 में अनुसूचित जाति के 151, जनजाति के सात, अन्य पिछड़ा वर्ग के 22 सहित कुल 180 घर स्वीकृत किए गए हैं, जबकि जिला में ही प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2017-18 में 91 और मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत 380 घर स्वीकृत किए गए हैं। जिला में 12 सितंबर को ग्राम पंचायतों की विशेष बैठकों का आयोजन किया जा रहा है। इसमें गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों को पात्रता के अनुसार सर्वेक्षण कर गृह निर्माण के लिए चयन किया जाएगा। यदि 12 सितंबर को किसी कारणवश किसी पंचायत का कोरम पूरा नहीं होता है, तो 23 सितंबर को पुन: संबंधित पंचायत की बैठक रखी जाएगी ।

उन्होंने बैठक में अनुसूचित जाति एवं जनजाति उप-योजना के अन्तर्गत सड़कों के अतिरिक्त स्वास्थ्य, शिक्षा, ¨सचाई एवं जन स्वास्थ्य, खाद्य आपूर्ति, कृषि, बागवानी, पंचायतीराज, और पर्यटन विभाग से सम्बन्धित योजनाओं की जानकारी भी प्राप्त की। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे उत्तम किस्म की नर्सरी तैयार करें और जिला में खाली पड़ी भूमि को चिन्हित कर आने वाले चार साल में योजनाबद्ध तरीके से पूर्ण पौधारोपण करें। 

इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त राघव शर्मा ने कहा कल्याण समिति द्वारा दिए गए सभी सुझावों व निर्देशों की अनुपालना की जाएगी। इस मौके पर अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी राजीव कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पुनीत रघु, समस्त एसडीएम व विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran