जागरण संवाददाता, मंडी : जिले के हणोगी माता मंदिर के सामने शुक्रवार सुबह चट्टानें गिरने से मनाली-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग करीब आधा घंटा बंद रहा। लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों ने जेसीबी की मदद से चट्टानों व मलबे को हटाया और यातायात बहाल किया। राजमार्ग आधा घंटा बंद रहने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई। 15 दिन के अंदर हणोगी माता मंदिर के समीप तीसरी बार चट्टानें गिरी हैं। यहां चट्टानें गिरने का खतरा अब भी बना हुआ है। पुलिस ने वाहन चालकों को सावधानी से चलने और मंदिर के आसपास रुकने से मना कर दिया है। गनीमत रही कि यह चट्टानें किसी वाहन पर नहीं गिरीं अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। पंडोह से लेकर औट तक के दायरे में बरसात के दिनों में इसी प्रकार के भूस्खलन का खतरा बना रहता है। वहीं, मंडी बाईपास के समीप भूस्खलन से मलबा राजमार्ग पर आ गया। इससे यहां करीब एक घंटे तक यातायात एकतरफा रहा। यहां भी जेसीबी लगाकर मलबा हटाया गया। अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी राजीव कुमार का कहना है कि प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है। भूस्खलन संभावित क्षेत्रों में लोक निर्माण विभाग की मशीनरी पहले से ही तैनात है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस