पूर्णचंद अवस्थी, कोटली

नागरिक अस्पताल कोटली में एक्सरे नहीं हो रहे हैं। रेडियोग्राफर न होने के कारण एक्सरे मशीन चार साल से धूल फांक रही है। इससे मरीजों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। वहीं एक्सरे के लिए जोनल अस्पताल मंडी के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं या फिर निजी क्लीनिकों में फीस चुकाकर एक्सरे करवाना पड़ रहा है। अस्पताल में चार साल से रेडियोग्राफर की नियुक्ति नहीं हो पाई है। अस्पताल में सफाई व्यवस्था भी चरमरा गई है। मुख्य द्वार पर हर समय कूड़ा बिखरा रहता है, लेकिन सफाई करने वाला कोई नहीं। पानी की निकासी नालियां बंद पड़ी हैं। इससे बारिश होने पर सारा पानी परिसर में घुस जाता है और तालाब का रूप धारण कर लेता है। इससे मरीजों को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा पार्किंग व्यवस्था न होने से परिसर में खड़ी 108 व 102 एंबूलेंस निकालने के लिए काफी दिक्कतें पेश आती हैं। एंबुलेंस निकालने के लिए यहां खडे़ निजी वाहनों के मालिकों को ढूंढना पड़ता है। कई बार वाहन मालिक समय पर न मिलने से एंबुलेंस निकालने में देरी हो जाती है। इससे मरीजों को काफी मुश्किलें उठानी पड़ती है। अस्पताल को नागरिक अस्पताल का दर्जा को दे दिया है, लेकिन न तो एक्सरे की सुविधा न ही अब तक यहां वाहनों को खड़ा करने के लिए पार्किंग तक की सुविधा है। ऐसे में वाहनों को अस्पताल परिसर में बेतरतीब ढंग से खड़ा कर दिया जाता है।भाजपा पूर्व कर्मचारी प्रकोष्ठ के साथ पूर्व सैनिक कल्याण संस्था कोटली के पदाधिकारियों ने ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा व मुख्य चिकित्सा अधिकारी से अपील की है कि खुद अस्पताल की स्थिति का जायजा लेकर समस्या का समाधान करें।

उधर, मुख्य चिकित्सका अधिकारी डॉ. जीवानंद चौहान ने बताया कि रेडियोग्राफर की पूरे जिला में कमी चल रही है। जैसे ही नई नियुक्तियां होंगी यहां प्राथमिकता के आधार पर रेडियोग्राफर का पद भर दिया जाएगा। पार्किंग निर्माण को लेकर उचित कदम उठाए जाएंगे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप