सहयोगी, गोहर। जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता के दौरान गोहर की खड्ड में नहाने गए खिलाड़ी की मौत ने खेल आयोजकों को कटघरे में खड़ा कर दिया है। उच्च शिक्षा उप निदेशक निदेशक अशोक कुमार सहित जिला के छह स्कूलों के प्रिंसिपल ने गोहर में पहुंच कर मामले की जांच की है। घटनास्थल का भी जांच दल ने निरीक्षण कर मृत छात्र विजय कुमार के साथियों से पूछताछ कर उनके बयान दर्ज किए हैं।

साथी खिलाड़ी अभिषेक व राहुल ने बताया कि वे खड्ड में नहाने के लिए उतर गए। लेकिन विजय कुमार काफी देर तक पानी से ऊपर नहीं निकल पाया। खेलकूद प्रतियोगिता में बलद्वाड़ा जोन से खिलाड़ियों के साथ छह कंटीजेंट इंचार्ज थे। खिलाड़ी उनकी देखरेख में आये थे।

घटना के समय एक कंटीजेंट इंचार्ज की ड्यूटी मैच करवाने में लगी थी जबकि अन्य छात्रों को खिलाड़ियों की देखभाल करनी चाहिए थी। घटना से स्कूल प्रबंधन के सुरक्षा इन्तजामों की पोल खुल गई है। खिलाड़ी की मौत का ठीकरा अध्यापकों और स्कूल प्रबंधन के सर पर ही फूटा है। सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि स्कूल प्रबंधन ऐसे कौन से प्रबंध में व्यस्त था कि उन्हें खिलाड़ियों के खड्ड की ओर निकल जाने की भनक तक नहीं लगी।

शिक्षा विभाग इन पर कड़ी कार्यवाही करने के मूड में है। खेलकूद प्रतियोगिताऐं घटना के तुरंत बाद रदद् कर दिए गए हैं। रविवार को जिला के सभी खिलाड़ी और कंटीजेंट इंचार्ज अपने अपने स्थानों की ओर लौट गए है। प्रशासन की ओर से मृत छात्र के परिजनों को 20 हजार रुपये की राहत राशि प्रदान कर दी गई है।

इधर, मृतक छात्र विजय कुमार के शव का जोनल अस्पताल मंडी में पोस्टमार्टम करवा कर इसे परिजनों को सौंप दिया गया है। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला गोहर समेत समूचे कस्बे में सन्नाटा पसरा हुआ है। थाना प्रभारी गोहर मनोज वालिया ने बताया कि मामले की तहकीकात जारी है।

Posted By: Sachin Mishra