संवाद सहयोगी, मंडी : निजी बस ऑपरेटर्स की हड़ताल के कारण परिवहन निगम ने खूब चांदी कूटी। हड़ताल को देखते हुए परिवहन निगम ने मंडी मंडल में 138 अतिरिक्त बसें लगाई थीं। ये बसें जिले के विभिन्न रूटों पर चलाई गई। लगभग सभी बसें यात्रियों से खचाखच भरी हुई रूटों पर दौड़ीं। इससे निगम को लाखों रुपये का लाभ हुआ है। निजी बस ऑपरेटर्स ने मांगों को लेकर पहले की हड़ताल का ऐलान कर दिया था।

इसको देखते हुए परिवहन निगम ने भी दो दिन पूर्व अपने सभी कर्मचारियों की छुट्टियां रद कर दी थीं और सोमवार को सभी चालक परिचालक ड्यूटी पर तैनात रहे। सुबह ही मुख्य रूटों पर अतिरिक्त बसें चलानी शुरू कर दी। यहां तक कि लंबे समय से निगम के कर्मशाला में जंग खा रही बसों को भी निकालकर रूटों पर भेजा गया। इसके बाद दिनभर यात्रियों की मांग को देखते हुए मुख्य रूटों पर निगम की बसें चलती रहीं।

ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ हद तक यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा, लेकिन शहरी क्षेत्रों में लोगों को सुचारू रूप से बस सेवा उपलब्ध हुई। हड़ताल के कारण मंडी मंडल में कुल 606 निजी बसें बंद रही, इसमें अधिकतर बसें लोकल रूटों की हैं।

परिवहन निगम के मंडलीय प्रबंधक एएन सलारिया ने बताया हड़ताल को देखते हुए निगम ने यात्रियों की सुविधा के लिए अतिरिक्त बसें चलाई थीं। जब तक निजी बस ऑपरेटर्स की हड़ताल खत्म नहीं होती यात्रियों को बस सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

----- इन डिपो में चलाई इतनी अतिरिक्त बसें

बस डिपो,अतिरिक्त बसें

सरकाघाट,23

कुल्लू,37

सुंदरनगर,26

मंडी,26

केलंग,26

Posted By: Jagran