सहयोगी, पद्धर : विकास खंड द्रंग की पंचायत उरला में शनिवार को ग्रामसभा की बैठक हुई। इसकी अध्यक्षता पंचायत प्रधान ममता मित्तल ने की। 250 से अधिक लोगों के उपस्थिति दर्ज करवाने से कोरम पूरा हो गया। बैठक में उरला बाजार में कुछ दुकानदारों की ओर से अवैध रूप से बेची जा रही शराब का मुद्दा जोर शोर से गूंजा। गैला गांव के स्वामी राम ने कहा कि नशा समाज को खोखला कर रहा है। इस पर लगाम लगाई जाए। साथ ही पंचायत कार्यालय के समीप बनाए गए सामुदायिक सुलभ शौचालय में सफाई व्यवस्था बनाए रखने, देव पशाकोट मंदिर करालडी के समीप खुले में कचरा फेंकने की शिकायत की।

कोल्थी गांव के पृथ्वी चंद ने कोल्थी-बदन सड़क निर्माण कार्य में खड्ड की बजरी प्रयोग करने का मामला उठाया। उन्होंने गोशाला के निर्माण के लिए पंचायत की ओर से शेल्फ पारित करने बावजूद नाम काटने की शिकायत की। बड़वाहण निवासी ओमराज ने कहा कि उनके गांव सड़क से जोड़ा गया है लेकिन इसकी हालत दयनीय है। उन्होंने सड़क की मरम्मत करवाने की मांग उठाई। गांव के पीछे जलशक्ति विभाग ने जल भंडारण टैंक तो बनाया है लेकिन कनेक्शन नहीं दिया है।

रोपा निवासी किशन चंद ने कहा कि गांव में मटमैले पानी की आपूर्ति हो रही है। इससे बीमारियां फैलने का अंदेशा है। विभाग ने गांव के लिए सात माह पहले एक इंच की पाइपलाइन बिछाई है लेकिन कनेक्शन नहीं दिया है। प्रधान ने लोगों की समस्याएं संबंधित विभागों के समक्ष रखने का आश्वासन दिया। पंचायत समिति उपाध्यक्ष कृष्ण भोज ने त्रिस्तरीय पंचायती राज प्रणाली के तहत किए जाने वाले विकास कार्यों की जानकारी दी। इस अवसर पर पंचायत सचिव रमेश कुमार, उपप्रधान हरीश कुमार, वनरक्षक जगदीश चंद व प्रदीप ठाकुर आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran