मुकेश मेहरा, मंडी

क्षेत्रीय अस्पताल मंडी के पास बने मात्र-शिशु अस्पताल में लगने वाले फर्नीचर के सैंपल फेल हो गए हैं। अस्पताल में फर्नीचर पर 2.90 करोड़ रुपये खर्च होने हैं। स्वास्थ्य विभाग ने संबंधित कंपनी को अब 20 दिन के भीतर फर्नीचर लाने के लिए कहा है।

26 करोड़ से बने अस्पताल भवन में सेंटर आक्सीजन पाइपलाइन सहित अन्य व्यवस्था कर दी गई है। मरीजों के बिस्तर, स्टाफ के लिए मेज-कुर्सियां, व्हील चेयर, बैठने के लिए सोफे आदि आने हैं। आरंभ में जो सैंपल इसके आए थे, उसकी जांच जब अधिकारियों ने की तो इनमें कुछ साइज में छोटे थे तो कुछ का रंग व गुणवत्ता सही नहीं थी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने संबंधित सैंपल रद कर दिए हैं। स्वास्थ्य विभाग इस अस्पताल को जल्द शुरू करना चाहता है।

मंडी जिले में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना से संक्रमित मरीजों को मातृ-शिशु अस्पताल में रखने की व्यवस्था करने की योजना है, लेकिन फर्नीचर न आने के कारण सारी व्यवस्था ठप हो गई है। छह करोड़ रुपये अधिक हुए भवन निर्माण पर खर्च

मातृ-शिशु अस्पताल के भवन निर्माण का काम 20 करोड़ से होना था। समय पर भुगतान न होने के कारण ठेकेदार ने कुछ समय के लिए काम बंद कर दिया था। इस दौरान निर्माण सामग्री के दाम भी बढ़ गए, जिस कारण भवन निर्माण पर छह करोड़ रुपये ज्यादा खर्च हुए। मातृ-शिशु अस्पताल के लिए जो फर्नीचर के सैंपल आए थे उनमें कुछ मानकों पर खरे नहीं उतरे हैं। संबंधित कंपनी को अब 20 दिन के भीतर व्यवस्था करने को कहा है।

-डा. देवेंद्र शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी मंडी।

Edited By: Jagran