जागरण संवाददाता, मंडी : मंडी जिले के धर्मपुर हलके के संधोल पशु चिकित्सालय में कार्यरत पशु चिकित्सक विनोद कुमार को जातिसूचक शब्दों से प्रताड़ित करने के मामले की जांच डीएसपी सरकाघाट चंद्रपाल सिंह करेंगे। एससी/एसटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज होने के बाद पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा ने मामले की जांच का जिम्मा उन्हें सौंपा है। डीएसपी ने पशु चिकित्सक को बयान कलमबद्ध करवाने के लिए नौ जून को अपने कार्यालय में बुलाया है।

पशु चिकित्सक ने अपने विभाग के निदेशक, पूर्व निदेशक, उपनिदेशक, सहायक निदेशक, कई वरिष्ठ पशु चिकित्सकों, पंचायत प्रधान, वार्ड सदस्य सहित करीब 13 लोगों के विरुद्ध मानसिक, आर्थिक रूप से प्रताड़ित करने व जातिसूचक शब्दों से पुकार कर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। उसके बयान दर्ज होने के बाद पुलिस उन सभी लोगों को पूछताछ के लिए तलब करेगी जिनके नाम प्राथमिकी में दर्ज हैं। एससी/एसटी अधिनियम में कई लोगों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। कई अधिकारी अग्रिम जमानत के लिए न्यायालय पहुंच गए हैं। डॉ. विनोद कुमार ने अपने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों पर गलत रिकॉर्ड बनाने के लिए दबाव बनाने व क्षेत्र की एक पंचायत के प्रतिनिधियों पर बिना कारण तंग करने का आरोप लगाया है।

करीब नौ माह पहले एक महिला फार्मासिस्ट ने डॉ. विनोद पर अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाकर शिकायत दर्ज करवाई थी। डॉ. विनोद ने टोका मशीन के आवंटन में हुई अनियमितता का मामला उजागर किया था। इसके बाद वह अधिकारियों की आंख की किरकिरी बने हुए हैं। मामला सामने आने के बाद उनका तबादला कर दिया गया था। क्षेत्र के लोगों ने उनके तबादले का विरोध किया था। इस पर सरकार को तबादला रद करना पड़ा था।

-------------

पशु चिकित्सक मामले की जांच डीएसपी सरकाघाट को सौंपी गई है। आरोप कितने सही हैं जांच के बाद ही पता चलेगा।

-गुरदेव शर्मा, पुलिस अधीक्षक मंडी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस