जागरण संवाददाता, मंडी : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के गृह जिला मंडी के सलापड़ में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कौल सिंह ठाकुर ने सरकार पर हमला बोला है। कौल सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के गृह जिले में जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत होना एक त्रादसी है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि जहरीली शराब मामले की निष्पक्ष जांच हाईकोर्ट के न्यायाधीश से करवाई जाए ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके।

कौल सिंह ने यहां जारी बयान में कहा कि इस तरह की घटना राजनीतिक संरक्षण से ही संभव है। जहरीली शराब मामले में पुलिस ने छोटी मछलियों को पकड़ा है। इस मामले में सरकार के संरक्षण के कारण मगरमच्छ को नहीं पकड़ा जा रहा है। कौल ने सरकार से सवाल किया कि जहरीली शराब का कारोबार कब से प्रदेश में चला हुआ है।। पुलिस व आबकारी विभाग से जहरीली शराब की जानकारी अछूती नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि राजनीतिक संरक्षण के कारण अपराधियों को पकड़ा नही जा रहा है। सरकार ने जांच के लिए जो एसआइटी गठित की है, उससे कुछ होने वाला नहीं है।

राजनीतिक संरक्षण से पकड़े नहीं जा सके अपराधी : करणी सेना

सहयोगी, नेरचौक : जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत पर हिमाचल करणी सेना ने शोक व्यक्त किया है। प्रदेश करणी सेना अध्यक्ष रजनीश सोनी ने इस मामले की जांच उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत दु:खद है। सरकार व पुलिस इस मामले में छोटी मछलियों की धरपकड़ कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि राजनीतिक संरक्षण के कारण अब तक अपराधियों को पकड़ा नहीं जा सका है।

Edited By: Jagran