जागरण संवाददाता, मंडी : पेट्रोलियम पदार्थो के दामों में बढ़ोतरी के विरोध को लेकर कांग्रेस के भारत बंद की मंडी जिला में हवा सरक गई। जिला मुख्यालय की इंदिरा मार्केट में जबरन दुकानें बंद करवाई गई व दुकानदारों के साथ दु‌र्व्यवाहार किया गया। जबरन शटर बंद करने से कई दुकानों में सामान व काउंटर को नुकसान पहुंचा। दुकानें न बंद करने से गुस्साए कांग्रेस के जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा इंदिरा मार्केट में एक दुकानदार से उलझ गए व नौबत हाथापाई तक पहुंच गई। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बीच-बचाव कर मामला शांत करवाया। दुकानें जबरन बंद करवाने से दुकानदारों में रोष दिखा।

इससे पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने गांधी भवन रैली निकाली। सेरी बाजार से नया सुकेती पुल व कॉलेज मार्ग से इंदिरा मार्केट पहुंचे। इंदिरा मार्केट व्यापारी यूनियन की ओर से बंद की काल न होने से यहां अधिकांश दुकानें खुली थी। मार्केट में 250 से अधिक दुकानें हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दुकानें जबरन बंद करवाई। जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा की कई दुकानदारों से कहासुनी हुई। चौहटा, मोती बाजार और सेरी बाजार में व्यापार मंडल के आह्वान पर 12 बजे तक दुकानें बंद रहीं। कांग्रेस की रैली के दौरान कार्यकर्ताओं के हाथों में गैस सिलेंडर की कीमत समेत गैस सिलेंडर की फोटो के अलावा मोदी की फोटो लगी थी। इससे दूर से देखने पर ऐसा लग रहा था कि कांग्रेस की रैली में मोदी के पोस्टर लेकर कार्यकर्ता चल रहे हैं।

इस मौके पर पूर्व सीपीएस सोहन लाल ठाकुर, सुंदरनगर जिला कांग्रेस अध्यक्ष पवन ठाकुर, चंपा ठाकुर, सराज से चेतराम ठाकुर, जोगेंद्रनगर से जीवन ठाकुर, नाचन से लाल ¨सह कौशल, महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुमन चौधरी, ज्ञान कुमारी कौंडल, दलित नेता चमन राही, ब्रहमदास चौहान समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

-------- नड्डा के जिले में डेंगू तो मुख्यमंत्री के जिले की सड़कें बदहाल : गुरकीरत

मंडी : हिमाचल कांग्रेस के सहप्रभारी गुरकीरत ¨सह कोटली ने चौहटा बाजार में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा भाजपा सत्ता में आने के बाद जनता से किए सारे वादों को भूल गई है। मोदी सरकार के शासन में पेट्रोल, डीजल और रसोई गैस के दाम में भारी इजाफा हुआ है। इससे देश की जनता पर महंगाई की मार पड़ी है। देश की सुरक्षा दांव पर लग गई है। आलम यह है कि देश के स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा के गृह जिला बिलासपुर व गोद लिए गए डैहर में डेंगू लोगों को कई माह से डरा रहा है। मुख्यमंत्री के गृह जिले में सड़कों की हालत दयनीय है। पंजाब में पूर्व अकाली-भाजपा सरकार के समय नशे का कारोबार फला फूला था। इससे पंजाब का युवा नशे की गर्त में चला गया था। मगर अब कांग्रेस की सरकार ने ड्रग माफिया पर नकेल कसी है। तो वही ड्रग माफिया हिमाचल में पैर पसारने लगा है।

Posted By: Jagran