संवाद सहयोगी, मंडी : छोटी काशी में कलस्टर यूनिवर्सिटी सरदार वल्लभ भाई पटेल के नाम से चलेगी। सरकार ने आधारशिला रखने के साथ ही कलस्टर यूनिवर्सिटी का नामकरण कर दिया। जल्द यहां कक्षाएं शुरू कर दी जाएंगी। यह बात शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने वल्लभ कॉलेज मंडी में प्लेटनिम जुबली समारोह के दौरान कहीं। उन्होंने कहा मौजूदा समय में कलस्टर यूनिवर्सिटी के साथ मंडी के चार कॉलेज जोड़े गए हैं, लेकिन अब इसके साथ मंडी सहित अन्य जिलों के कॉलेज भी जोड़े जाएंगे और भविष्य में इसे प्रदेश विश्वविद्यालय से अलग कर दिया जाएगा।

कलस्टर यूनिवर्सिटी शुरुआत में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के तहत कार्य करेगी और प्रदेश विश्वविद्यालय के कुलपति ही इसका कार्यभार देखेंगे। उन्होंने कहा जल्द कलस्टर यूनिवर्सिटी में कोर्स शुरू कर कक्षाएं चलाई जाएंगी। इसके लिए उन्होंने शिक्षा सचिव प्रदेश सरकार व निदेशक उच्चतर शिक्षा को एक माह के भीतर औपचारिकताएं पूरी करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश जितना पुराना है मंडी का वल्लभ कॉलेज भी उतना ही पुराना है। आजादी के बाद प्रदेश में यह पहला कॉलेज खुला था, जिसने देश को कई बड़े अधिकारी दिए और जयराम ठाकुर जैसा मुख्यमंत्री भी हमें दिया।

उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग ने 2014 में प्रदेश में कलस्टर यूनिवर्सिटी खोलने के लिए मानव संसाधन मंत्रालय भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा था। 2016 में इस प्रस्ताव को मंत्रालय ने स्वीकृति दे दी। साथ ही मंडी कॉलेज को लीड कॉलेज बनाते हुए 55 करोड़ की डीपीआर को मंजूरी दी। इसके बावजूद कार्य लटका रहा। भाजपा के सत्ता में आते ही कैबिनेट में कलस्टर यूनिवर्सिटी को मंजूरी प्रदान की और आज इसका शिलान्यास भी मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कर दिया है।

--------- यहां बनेंगे ये कैंपस :

कलस्टर यूनिवर्सिटी के लिए मंडी जिला के चार कॉलेज मंडी, सुंदरनगर, द्रंग और बासा में कैंपस बनाए जाने हैं। इसमें वल्लभ कॉलेज मंडी को लीड कॉलेज बनाया जाएगा। यहां पर स्कूल ऑफ लॉ, इंजीनिय¨रग एंड टेक्नोलॉजी, परफार्मिग आर्ट, आर्किटेक्चर प्लानिंग, टीचर एजुकेशन, जियो फिजिकल साइंस और मैनेजमेंट के कोर्स चलाए जाएंगे। इसके अलावा सुंदरनगर कॉलेज में स्कूल ऑफ अप्लाइड साइंस, मैनेजमेंट स्टडी और फार्मेसी, द्रंग कॉलेज में स्कूल ऑफ लेंग्वेज और साइंस तथा बासा कॉलेज में स्कूल ऑफ टूरिज्म स्टडी तथा लाइब्रेरी साइंस का कैंपस खुलेगा।

Posted By: Jagran