सहयोगी, रिवालसर : विकास खंड बल्ह की ग्राम पंचायत हल्यातर में ओडिनाल से शहीद दीप चंद के घर तक सड़क निर्माण के लिए जारी सरकारी सीमेंट के 70 बैग स्टोर में पड़े-पड़े खराब हो गए हैं। हल्यातर पंचायत के सरूआ वार्ड में एक साल से स्टोर में पड़े सीमेंट बैग का मामला विजिलेंस के पास पहुंचा था। विजिलेंस टीम ने वीरवार को दबिश देकर मौके पर सीमेंट के बैग के स्टोर को सील कर पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

इस मामले में स्थानीय पंचायत प्रधान को भी मंडी कार्यालय तलब कर पूछताछ की गई। सरकार द्वारा विकास कार्यो के लिए लाखों रुपये जारी होते हैं। इसके विपरीत पंचायत की लापरवाही की वजह से हजारों रुपये का सीमेंट स्टोर में ही बर्बाद हो गया। गत वर्ष हल्यातर पंचायत के सरुआ वार्ड में शहीद दीप चंद के घर तक सड़क निर्माण के लिए जिला प्रशासन द्वारा तीन लाख रुपये जारी किए गए थे।

पंचायत प्रतिनिधियों की लापरवाही की वजह से यह राशि खर्च नहीं हो पाई। वहीं, सड़क निर्माण के लिए जारी हुए सीमेंट के 70 बैग स्टोर में खराब हो गए। नहीं पता क्यों पूरा नहीं हुआ कार्य : रोशन लाल

हल्यातर पंचायत के पूर्व प्रधान रोशन लाल ने बताया कि इस सड़क निर्माण के लिए उनके कार्यकाल में तीन लाख रुपये स्वीकृत हुए थे। उनके कार्यकाल में ही सड़क का कार्य शुरू कर दिया गया था लेकिन दिसंबर 2020 में आचार संहिता लागू होने के कारण कार्य पूरा नहीं हो पाया था। इस कार्य को वर्तमान पंचायत द्वारा पूरा किया जाना था। वर्तमान पंचायत के प्रतिनिधियों ने जनवरी 2021 में कार्यभार संभाल लिया था। किस वजह से कार्य पूरा नहीं हो पाया, इसकी उन्हें जानकारी नहीं है। सड़क निर्माण में लोगों ने डाली अड़चन : बंती देवी

पंचायत प्रधान बंती देवी ने कहा कि सड़क निर्माण के लिए दो मस्टररोल पंचायत द्वारा जारी किए गए हैं। सड़क निर्माण में कुछ लोगों द्वारा अड़चन डालने के कारण निर्माण कार्य बंद हुआ था। इस कारण स्टोर में रखा सीमेंट खराब हो गया। वीरवार को मंडी से सतर्कता विभाग की टीम हल्यातर आई थी। पूछताछ कर स्टोर को सील कर दिया गया है। इस मामले को लेकर उन्हें शुक्रवार को मंडी विजिलेंस कार्यालय बुलाया गया था जहां पर अपना पक्ष रखा है।

Edited By: Jagran