जागरण टीम, मंडी/पद्धर/गोहर/बरोट : मंडी जिला की ऊंची पहाड़ियों ने बर्फ की सफेद चादर ओढ़ ली है। चौहार घाटी, शिकारी माता व कमरुनाग सहित अन्य पहाड़ियों पर ताजा हिमपात हुआ है। वहीं निचले क्षेत्रों में जमकर बारिश हुई है। सोमवार को रातभर बारिश व बर्फबारी का सिलसिला जारी रहा। मंगलवार को भी ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी हुई है। इससे पूरे जिला में ठंड का प्रकोप बढ़ गया। इससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। दूरदराज के गांवों के लोग घरों में ही दुबके रहे।

मंगलवार को मंडी शहर में खरीदारी के लिए काफी कम लोग बाजारों में आए। शहर में व्यापारियों ने ठंड से बचने के लिए दुकानों में अंगीठी, हीटर तथा बिजली के अन्य उपकरण का सहारा लिया। बारिश और बर्फबारी से चौहारघाटी सहित निचले क्षेत्र में किसान बागवान गदगद हो गए हैं। लगभग चार माह से भी ज्यादा समय से भीषण सूखे का संकट झेल रहे किसानों के चेहरों की रौनक लौट आई है। किसान जहां गेहूं की बिजाई की तैयारी कर रहे हैं। वहीं घाटी में लोग बर्फबारी से निपटने के लिए पुख्ता प्रबंध कर रहे हैं। चौहारघाटी के ऊंचाई वाले सभी जोत बर्फ से सफेद चादर ओढ़े हैं। झरवाड़, मियोट, पजौंड तक बर्फ पहली ही बारिश में पहुंची है। उधर, गोहर उपमंडल के ऊपरी इलाकों में बर्फबारी और निचले इलाकों में काफी बारिश हुई है।

मंगलवार को शिकारी देवी व कमरुनाग की पहाड़ियों पर दो से तीन इंच बर्फबारी हुई है। सराज के स्पेनिधार, शैटाधार, भाटकीधार, थाची, गड़ागुसैनी, छतरी के पहाड़ों पर भी हल्की बारिश और बर्फबारी हुई हैं। जयूनी घाटी के देवीदड़, लोट, कहवली, झौर से लेकर कमरुनाग ताजा बर्फबारी होने से समूचे गोहर उपमंडल में शीतलहर शुरू हो गई है। बर्फबारी से फिलहाल कोई भी नुकसान आदि की सूचना नहीं है। लोक निर्माण विभाग की ओर से बर्फबारी के दौरान सड़कों को बहाल करने के लिए सारे प्रबंध कर लिए गए है।

लोक निर्माण विभाग मंडल गोहर के सहायक अभियंता विश्वजीत चंदेल ने बताया कि विभाग द्वारा बर्फबारी से निपटने के लिए मशीनरी सहित सारे इंतजाम कर किए हैं। परिवहन निगम के डीएम एएन सलारिया ने बताया कि जिला में तीन रूट प्रभावित हुए हैं। मौसम साफ होते ही रूटों पर बसें भेज दी जाएंगी।

संपर्क मार्ग बंद, तीन बस रूट हुए प्रभावित

जिला में हुई बारिश व बर्फबारी के कारण कई संपर्क मार्ग बंद हो गए हैं। इससे यातायात भी अवरुद्ध हो गया है। लोगों को गंतव्य तक पहुंचने में काफी परेशानी हुई। सोमवार रात्रि को हुई बारिश से कोटरोपी-चुक्कू-खजरी मार्ग में दलदल होने से निगम की बस भी खजरी में ही फंसी हुई है, जबकि पाली-शीलग-बड़ागांव मार्ग में भी निगम की बस फंसी है। यहां मार्ग में छोटे वाहन भी फंसते रहे, जिससे चालकों को भी दिक्कतें झेलनी पड़ी। पूरे जिला में करीब तीन रूटों पर निगम की बसें नहीं चल पाई। लोक निर्माण विभाग पद्धर सहायक अभियंता एसके कौशल ने कहा कि बंद मार्गों को खोलने के लिए विभागीय कर्मी और मशीनरी भेजी गई है। कच्चे मार्गों में अधिक दलदल होने से समस्या आड़े आई है।

Posted By: Jagran