मुकेश मेहरा, कुल्लू

बढ़ रहे शहरीकरण में अब पक्षियों की चहचहाहट सुनना उतना ही दुर्लभ है, जितना कि ये कुदरत के अलार्म हो गए हैं। ऐसा नहीं है कि यहां पक्षी बिल्कुल ही खत्म हो गए हैं, जो हैं उनकी आवाज गाड़ियों के शोर में सुनाई नहीं देती।

ऐसे में दुर्लभ पक्षियों की चहचहाहट सुनने की चाह रखने वालों को ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क कुल्लू का रुख करना चाहिए। आधुनिकीकरण में गुम हो रही ये मधुर आवाजें पार्क में संरक्षित हो रही हैं। संरक्षण का नतीजा यह हुआ कि यहां मिलने वाली 183 पक्षियों की प्रजातियों में से 50 ऐसी हैं, जो अपनी सुरीली चहचहाहट के लिए ही पहचानी जाती हैं। इसके अलावा देश और विदेश से भी करीब 50 पक्षियों की प्रजातियां यहां पहुंचती हैं।

1990 में बने ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में पशु-पक्षियों के संरक्षण व इनकी सुरक्षा के लिए सख्त नियम लागू हैं। इससे यहां पर जैव विविधता बढ़ने लगी। नतीजा रहा कि अब यहां 183 पक्षियों की प्रजातियां हैं। इनमें 50 पैसराइज (सुरीली आवाज वाले) और शेष अनपैसराइज प्रजातियां हैं। अधिकारियों की मानें तो नेशनल पार्क में विभिन्न स्थानों पर 30 के करीब सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। यहां आने वाले लोगों पर नजर रखी जाती है। विभाग की टीम गश्त पर रहती है। यही कारण है कि यहां पर पक्षियों और अन्य जानवर बढ़ रहे हैं। पक्षियों की प्रजातियों को अलग-अलग श्रेणियों में बांटा गया है। इनमें स्नोवंटिग, ट्रीक्रीपयर्स, थ्रसिस, फ्लावर पैकेर्स, स्पाइकल, वेकटेल आदि हैं।

----

400 पहुंची राज्य पक्षी की तादाद

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में राज्य पक्षी जजुराना 400 के करीब हो गए हैं। यहां जजुराना का प्रजनन प्राकृतिक रूप से होता है। पार्क के जिन क्षेत्रों में यह पाया जाता है, उसके आस-पास किसी को भी जाने की अनुमति नहीं है। इनका अपना एक निर्धारित क्षेत्र होता है, जिसमें यह विचरण करते हैं। यहां भी सीसीटीवी कैमरा लगे हुए हैं ।

---

ऑरेंज बुलफिंच ने भी बनाया है घर

पाकिस्तान के छितराल और गिलगित में पाई जाने वाली ईत्तु सी चिड़िया ऑरेंज बुलफिच भी नेशनल पार्क में अपना घर बना चुकी है। ऑरेंज बुलफिच चिड़िया की एक प्रजाति है। यह अब तक प्रदेश में केवल चार जगहों पर ही देखी गई है।

----

ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क में पक्षियों के संरक्षण पर विशेष ध्यान है। जजुराना भी यहां बढ़ रहे हैं।

-अजीत ठाकुर, अरण्यपाल ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप