संवाद सूत्र, पतलीकूहल : अंतरराष्ट्रीय रौरिक मेमोरियल ट्रस्ट नग्गर में सांस्कृतिक धरोहरों के रखरखाव, हैंडलिग व प्रिवेंन्टिव कंजर्वेशन पर आधारित कार्यशाला का आयोजन हिमालयन सोसायटी फॉर हेरिटेज कंजर्वेशन नैनीताल (उत्तराखंड) के संयुक्त तत्वाधान में हुआ। सिद्धार्थ चंद्रा कंजर्वेटर ने गैलरी गाइडस व संग्रहालय कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान किया व सांस्कृतिक धरोहरों के बचाव व वैश्विक उपयोगिता पर प्रस्तुति दी।

भारतीय क्यूरेटर रमेश चंद्रा ने बताया कि जिला प्रशासन कुल्लू के सहयोग से रौरिक ट्रस्ट नग्गर में आधुनिक कंजर्वेटर प्रयोगशला की स्थापना की है, परंतु बजट के अभाव के कारण लैब में कंजर्वेटर की नियुक्ति नहीं की जा रही है। काल, वातावरण दीमक, कीटस व नमी के प्रभाव से कला धरोहरें प्रभावित होती हैं, व क्षरण की स्थिति का खतरा उत्पन्न होता है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस