मनाली, जेएनएन। रोहतांग दर्रे में रातभर बर्फबारी का क्रम जारी रहने से बुधवार को 12 घंटे रोहतांग मार्ग वाहनों के लिए अवरुद्ध रहा। बर्फबारी से बंद हुए मार्ग के कारण मनाली के गुलाबा व लाहुल के कोकसर में वाहनो की लंबी कतारें लग गई। सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने कोकसर से सड़क की बहाली शुरू करते हुए रोहतांग के उस पार राहनीनाला तक सड़क से बर्फ हटाई। बर्फ हटाते ही कोकसर में रुके 150 से अधिक वाहन शाम तीन बजे मनाली की ओर निकल आए।

 मनाली की ओर प्रशासन ने पहले वाहनों को गुलाबा में रोका लेकिन मौसम साफ होता देख प्रशासन ने वाहनों  को मढ़ी तक जाने की अनुमति दे दी। कोकसर से आने के बाद मढ़ी में रुके 100 से अधिक वाहनों ने लाहुल का रुख किया। रोहतांग दर्रा आर पार करने वालो को कोकसर व मढ़ी में घंटों इंतजार करना पड़ा। उधर, लेह मार्ग में बारालाचा दर्रे में हुई बर्फबारी के चलते वाहनों की आवाजाही बंद है। दूसरी ओर शिंकुला दर्रे में भी बर्फबारी से दारचा शिंकुला जांस्कर मार्ग में वाहनों की आवाजाही थमी है। लेह जाने वाले अधिकतर वाहन दारचा में रुके हुए है, जबकि लेह से आने वाले वाहन सरचू से आगे नहीं बढ़ पाए है। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने बताया कि रोहतांग दर्रा बर्फबारी से एक बार फिर बंद हो गया था, जिसे आज दोपहर बाद बहाल कर लिया है। दर्रे में वाहनों की आवाजाही सुचारू हो गई है।

मनाली के एसडीएम रमन घरसंगी ने बताया कि मौसम को देखते हुए सैलानियों को पहले गुलाबा तक ही भेजा गया लेकिन मौसम खुलने के बाद उन्हें मढ़ी तक जाने की अनुमति दे दी। रोहतांग दर्रे में बर्फबारी व मौसम खराब होने की स्थिति में सैलानियों को गुलाबा तक जाने की ही अनुमति रहेगी।

world vision day 2019: मोबाइल फोन से टेढ़ी हो रही हैं आंखें

 हिमाचल की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप