संवाद सहयोगी, कुल्लू : नेहरू युवा केंद्र एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा 15 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के सातवें दिन बजौरा में युवाओं को स्वयं सहायता समूह और एनजीओ बनाने और इनके बनाने के लाभ की जानकारी दी गई।

एक स्वयं सहायता समूह को बनाने का मुख्य लक्ष्य महिलाओं के सशक्तीकरण करने के लिए कार्य करना है और आर्थिक स्थिति को मजबूत करना है। एक स्वयं सहायता में कम से कम सात सदस्य होने चाहिए। प्रत्येक स्वयं सहायता समूह को अपने ब्लॉक से जुड़ना होगा।

प्रदेश खादी एवं ग्रामो उद्योग बोर्ड के विकास अधिकारी विवेक शर्मा ने खादी एवं ग्रामो उद्योग आयोग के अधीन आने वाले ग्रामो उद्योगों के बारे विस्तार से जानकारी दी ।

डॉ. दयान्द गौतम युवाओं के बीच अपने विचार साझा किए। मानव निर्माण की मूल इकाई भाषा है। हम अपनी मातृ भाषा को ना भूले। आज का गांव व तब के गांव पर युवाओं प्रेरित करने वाली कविता के माध्यम से संदेश दिया। वहीं, कुल्लू जिला के प्राचीन हिडिंबा मंदिर का भ्रमण के लिए मनाली ले जाया गया। साथ ही विश्व पर्यावरण दिवस भी मनाया गया। मनाली में हिड़िबा मंदिर परिसर में युवाओं ने कुल्लवी नाटी भी डाली। जिसमें विदेशी पर्यटकों ने भी भाग लिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप