जागरण संवाददाता, मनाली : साहसिक पर्यटन को लेकर दुनिया में पहचान बना चुके मनाली के पर्यटनस्थल सोलंग में अंतरराष्ट्रीय स्की ढलानें विकसित होंगी। सरकार ने सर्वेक्षण प्रक्रिया पूरी कर ली है। सप्ताह के भीतर इसका काम शुरू हो जाएगा। इससे मनाली में अंतरराष्ट्रीय शरद खेलों का भी आयोजन किया जा सकेगा।

हालांकि यहां राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताएं होती हैं, लेकिन मापदंड पूरे न होने का कारण अंतरराष्ट्रीय शरद खेलें आयोजित नहीं हो पा रही थीं। सोलंग की ढलानें 340 मीटर लंबी हैं। इन्हें अब 130 मीटर और लंबा किया जाएगा। इनकी लंबाई 470 मीटर होने से यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर की खेलें भी करवाई जा सकेंगी। अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान मनाली की देखरेख में इन ढलानों को विकसित किया जाएगा। परिवहन एवं खेल मंत्री ने फरवरी में सोलंग की स्की ढलानों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने की घोषणा की थी। अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान के निदेशक नीरज राणा ने बताया कि सोलंग की स्की ढलानों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जा रहा है। इसके लिए वीरवार को अंतिम सर्वेक्षण कर लिया गया है। इसी सप्ताह ही कार्य शुरू किया जाएगा। दिन रात कार्य कर दो सप्ताह के भीतर कार्य पूरा कर लिया जाएगा।

---------

सोलंग स्की ढलानें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बनाने के लिए प्रदेश सरकार सहित मंत्री गोविद ठाकुर का आभार। 12 साल से प्रदेश विंटर गेम्स का अध्यक्ष रहने के नाते इसके लिए प्रयास कर रहा था। स्की एंड स्नो बोर्ड का प्रयास रहेगा कि सर्दियों में इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन की मदद से यहां अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता आयोजित आयोजित हो सके।

-रूप चंद नेगी, महासचिव स्की एंड स्नो बोर्ड इंडिया।

-------------

शरद खेलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार गंभीर है। अंतरराष्ट्रीय स्कीइंग ढलानें बनने से प्रदेश के खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा को घर में ही निखारने का अवसर मिलेगा। इससे विटर पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

-गोविद ठाकुर, वन परिवहन एवं खेल मंत्री।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस