जागरण संवाददाता, मनाली : नेपाली समुदाय के लोग 12 सितंबर को मनाली में हरी तालिका तीज मनाएंगे। सुहाग को अखंड बनाए रखने व युवतियों की ओर से मनचाहे पति पाने के लिए उत्सव मनाया जा रहा है।

तीज के सफल आयोजन के लिए मूल प्रवाह अखिल भारत नेपाली एकता समाज की बैठक संगठन अध्यक्ष साइलालामा की अध्यक्षता में हुई।

साइला लामा ने कहा कि 12 सितंबर को सुबह से शाम तक मनाली के मनु रंगशाला में सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। उन्होंने कुल्लू-मनाली में रह रहे नेपाली मूल के लोगों से उत्सव में भाग लेने का आग्रह किया है। संगठन की सदस्य विजेता कुमारी ने कहा कि त्योहार करवाचौथ से भी कठिन माना जाता है क्योंकि करवाचौथ में चांद देखने के बाद व्रत तोड़ दिया जाता है जबकि हरितालिका तीज में दूसरे दिन पूजा-पाठ के बाद व्रत तोड़ा जाता है। सवप्रथम इस व्रत को माता पार्वती ने भगवान शिव के लिए रखा था। इस दिन विशेष रूप से माता गौरी और भगवान शंकर का पूजन किया जाता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस