सरकाघाट, जेएनएन। सरकाघाट हलके की खलारडू पंचायत के सूरजपुर बाड़ी गांव में आज सुबह रसोई गैस सिलेंडर में रिसाव से लगी आग से एक दंपती झुलस गया। दोनों को उपचार के लिए नागरिक अस्तपाल सरकाघाट में भर्ती करवाया गया है। ग्रामीणों की सतर्कता से यहां एक बड़ा हादसा पेश आने से टल गया। समय रहते आग पर काबू पा लिया। प्रशासन की तरफ से पीड़ित दंपती को 10,000 रुपये की फौरी राहत राशि दी गई है। सरकाघाट पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। राकेश कुमार व उसकी पत्नी तारा देवी सुबह करीब नौ बजे रसोईघर में खाना बना रहे थे। रसोई गैस के अलावा साथ में चूल्हा भी जलाया हुआ था। खाना बनाते समय सिलेंडर में गैस समाप्त हो गई। पुराने सिलेंडर को बदल कर उसकी जगह नया सिलेंडर लगाया। जैसे ही गैस स्टोव ऑन किया, सिलेंडर ने आग पकड़ ली। दंपती ने आग बुझाने की कोशिश की, लेकिन तेज लपटों के आगे उनकी एक नहीं चली। आग से राकेश कुमार की बाजू व उसकी पत्नी टांग झुलस गई। आग बेकाबू होती देख दोनों ने शोर मचाया। शोर सुन पड़ोसी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने सबसे पहले बच्चों को घर से बाहर निकाला। उसके बाद दमकल विभाग से सेवानिवृत्त एक अधिकारी अपने घर से आग बुझाने का छोटा सिलेंडर लेकर आया। उससे आग पर काबू पाया। ग़नीमत यह रही सिलेंडर फटा नहीं और समय रहते आग को बुझा दिया गया। नागरिक अस्पताल सरकाघाट के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. पीएल वर्मा ने बताया राकेश कुमार के बाजू में झुलसने से जख्म हो गए हैं। दंपती की हालत खतरे से बाहर है। प्रशासन की तरफ से तहसीलदार दीनानाथ यादव अस्पताल पहुंचे। उन्‍होंने  दंपती का कुशलक्षेम पूछा।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस