संवाद सहयोगी, फतेहपुर : भारतीय मजदूर संघ (भामसं) 17 सितंबर को शिमला में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगा। प्रदर्शन की रूपरेखा तैयार करते हुए फतेहपुर में बुधवार को भामसं प्रदेश उपाध्यक्ष मदन राणा ने बताया कि भामसं ने जुलाई माह के प्रथम सप्ताह में विभिन्न विभागों के कर्मचारियों की मागों का 21 सूत्रीय मागपत्र सरकार को सौंपा था। जिस पर आज दिन तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है जबकि न ही कोई बैठक बुलाई। इसके चलते भामसं ने सरकार की आखें खोलने के लिए प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। मांग पत्र में पुरानी पेंशन योजना बहाल करना, आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को सरकारी कर्मी घोषित कर 18 हजार प्रतिमाह वेतन दिया जाए। केंद्र सरकार की ओर से आगनबाड़ी कार्यकर्ता का 1500 व सहायिका का 750 रुपये बढ़ाने का एलान किया है जिसका उन्होंने विरोध किया है। भामसं की रैली में जिला कांगड़ा से करीब 10 हजार कार्यकर्ता भाग लेंगे। इस मौके पर अवनिंद्र शर्मा, फतेहपुर प्रधान कृष्ण गोपाल, उपप्रधान सरदार जीत सिंह, जवाली प्रधान सुजान सिंह, उपप्रधान सुरजीत, रूबी बाला, अंजना शर्मा, सुरेश कुमारी, कमलजीत कौर, इंदु बाला, कमलेश कुमारी, प्रवीन कुमारी मौजूद रहीं।

Posted By: Jagran