मनाली, जेएनएन। रोहतांग दर्रे में बिछी बर्फ की सफेद परत ने वाहनों के पहिये जाम कर दिए है। हालांकि रोहतांग दर्रे में पौना फुट से एक फुट के बीच मे ही बर्फ़बारी हुई है जो फोर व्हील ड्राइव वाले वाहनों के लिये कुछ भी नही है लेकिन बर्फ़ीली हवा ने कहीं-कहीं सड़क में बर्फ की दीवार खड़ी कर दी है। वीरवार को हालांकि हल्की बर्फबारी के बीच तीन वाहन दर्रा पार कर मनाली पहुंच गए लेकिन सब्जी छोड़कर मनाली आ रही यूटिलिटी गाड़ी रोहतांग में ही फंस गई।

वाहन चालक वाहन को वही छोड़ने में मजबूर हो गया। मौसम खुलते ही ठंड से राहत मिल गई है लेकिन वाहनों पहिये थम गए है जिस कारण लाहुलियों की दिक्कते बढ़ गई है। बर्फ़बारी के दौरान लाहुल से वाहन मनाली पहुंचाने में सफल रहे वाहन चालक कमलेश और बॉबी ने बताया कि दर्रे में अधिक बर्फ नही है। उन्होंने बताया कि हवा से कहीं- कहीं सड़क में बर्फ के ढेर लगे है। उनका कहना है कि बीआरओ चाहे तो एक ही दिन में रोहतांग बहाल हो सकता है। उन्होंने बताया कि बहुत से वाहन दर्रे के इधर उधर फंसे हुए है।

 

शनिवार को बीआरओ चीफ इंजीनियर मढी में बने पुल का उदघाटन करने मढी आ रहे है। मढी में बीआरओ का ट्रांजिट केम्प भी है। बीआरओ ने यहां तक कल ही सड़क बहाल कर दी है। अब मढी से रोहतांग 16 किमी और रोहतांग से ग्रफू 15 किमी तक के भाग में बर्फ हटाना शेष है। लाहल घाटी के लिए विपरीत परिस्थितियों में भी वाहन सेवा देने वाले वाहन चालक जवाहर, अशोक कारपा, रोकी, पवन और विक्रम ने बताया ने बीआरओ से आग्रह किया कि कहीं-कहीं हवा से सड़क में आई बर्फ को हटा दे ताकि वह मनाली केलांग मार्ग पर लोगो को वाहनो की सेवा दे सके।

मौसम साफ होने पर आज मढी और कोकसर से रेस्क्यू टीमें रोहतांग पहुंची है। रोहतांग में फंसी जीप को निकाला जा रहा है। कोकसर की ओर बर्फ अधिक है। बीआरओ चाहे तो एक दिन में सड़क बहाल हो सकती है। रोहतांग दर्रे में बर्फ़ीली हवाओं के कारण पैदल सफर जोखिम से भरा है। परिस्थितियां ठीक होने पर ही लोगों को पैदल आने-जाने की अनुमति दी जाएगी,,,

पवन, प्रभारी कोकसर बचाव दल 

गुलाबा तक ही जा रहे वाहन

रोहतांग में बर्फ को देखते हुए किसी भी वाहन को गुलाबा से आगे नही भेजा गया है। सड़क बहाल होने व परिस्थितियों के अनुकूल होने पर ही मनाली से वाहन भेजे जाएंगे,,

रमन घरसंगी, एसडीएम मनाली

बीआरओ ने बर्फ के बीच भी कार्य को अंजाम देते हुए मढी के ब्यासनाला पुल को तैयार कर लिया गया है। बीआरओ चीफ इंजीनियर मोहन लाल शनिवार को इस पुल का विधिवत उद्घाटन करेंगे। बीआरओ ने फिलहाल मढी तक सड़क बहाल कर ली है। परिस्थितियों को देखकर ही रोहतांग बहाली के निर्णय लिया जाएगा,,,

कर्नल एके अवस्थी कमांडर बीआरओ

 

Posted By: Babita