सुरेश कौशल, सिद्धबाड़ी

कोरोना महामारी को हल्के में लेकर लोग खुद तो जान जोखिम में डाल रहे हैं। साथ ही दूसरों के सुरक्षाचक्र को भी कमजोर बना रहे हैं। खासकर युवा पीढ़ी नियमों के प्रति लापरवाह है। शनिवार को योल के समीप सिद्धबाड़ी बाजार में यह आलम देखने को मिला है। युवाओं के साथ-साथ कुछ लोग भी बिना मास्क के बस का इंतजार करते दिखे। इस लापरवाही में महिलाएं भी कम नहीं हैं। हालांकि जिला प्रशासन ने गाइडलाइन जारी कर सार्वजनिक स्थलों पर शारीरिक दूरी बनाने के साथ-साथ मास्क पहनने की सलाह दी है। इसके बावजूद लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं।

..

कोरोना महामारी से बचने के लिए हर किसी का यह फर्ज बनता है कि मास्क पहनकर ही घर से निकलें और अन्य लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करें।

-सतीश चौधरी।

..

हमें सरकार की ओर से जारी दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए। अब फिर से कोविड के मामले बढ़ने लगे हैं और इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए।

-प्यारे लाल।

.

खरीदारी करते समय हमें शारीरिक दूरी का ध्यान रखना चाहिए। बिना मास्क सार्वजनिक स्थलों पर नहीं जाना चाहिए। सावधानी में ही बचाव है।

-गगन वडजातिया।

..

महामारी से बचने का एकमात्र यही तरीका है कि मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकलें। बार-बार हाथ धोएं और कोरोना प्रोटोकाल का पालन करें।

-श्याम लाल।

..

नियमों का पालन करवाने के लिए पुलिस लगातार लोगों को जागरूक कर रही है। ऐसे में यदि कोई पालन नहीं करता है तो पुलिस सख्ती भी कर सकती है।

-नारायण दास, प्रभारी पुलिस चौकी योल।

Edited By: Jagran