काजा, जागरण संवाददाता। World Highest Polling Center, दुनिया का सबसे ऊंचा मतदान केंद्र टशीगंग मतदान के लिए तैयार है। टशीगंग गांव के ग्रामीण 30 अक्टूबर को पारंपरिक वाद्य यंत्रों की धुन पर वोट डालेंगे। गांव की बुजुर्ग महिला 76 वर्षीय सोनम डोलमा सबसे पहले वोट डालकर मतदान अभियान का शुभारंभ करेंगी। पोलिंग पार्टी समेत सभी मतदाता पारंपरिक परिधानों में नजर आएंगे। प्रशासन द्वारा पारंपरिक वाद्य यंत्रों की धुनों के बीच खतगा पहना कर स्वागत किया जाएगा। हालांकि मौसम के पूर्वानुमान ने चुनाव आयोग की चिंता बढ़ा दी है। लेकिन तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

किब्बर पंचायतके टशीगंग मतदान केंद्र में शत-प्रतिशत वोटिंग के लिए स्थानीय प्रशासन ने तैयारी कर ली है। जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार ने कहा टशीगंग मतदान केंद्र में शत-प्रतिशत मतदान का लक्ष्य रखा गया है। विकास खंड अधिकारी काजा टशी डोलकर को टशीगंग मतदान केंद्र का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। उन्होंने कहा टशीगंग मतदान केंद्र दुनिया का सबसे ऊंचाई वाला मतदान केंद्र है। देश-दुनिया की नजर इस मतदान केंद्र पर टिकी है, जिसे दुल्हन की तरह सजाया जाएगा। यहां कुल 49 मतदाता हैं।

इससे पहले स्पीति के ही हिक्किम को दुनिया का सबसे ऊंचा पोलिंग बूथ माना जाता था, जो 14,567 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। 2019 के बाद अब यह दर्जा टशीगंग को मिला है। स्पीति के मुख्यालय काजा से करीब 35 किलोमीटर दूर स्थित टशीगंग 15256 फीट की ऊंचाई पर है।

यहां आधा फीट के करीब बर्फ गिरी हुई है। हालांकि मौसम साफ रहने के कारण अब यह पिघल भी गई है। यहां के लोग इस भौगोलिक परिस्थिति से भली-भांति वाकिफ हैं। बर्फ के बीच भी यहां के लोग मतदान केेंद्र तक पहुंचने का साहस रखते हैं। प्रशासन की ओर से यहां विशेष तैयारी की जा रही है। मंडी संसदीय सीट पर हो रहे उपचुनाव को लेकर यहां पर भी 30 अक्‍टूबर को मतदान होगा।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma