सुरेश कौशल, योल

प्रशासन ने बेशक फुटपाथ की सुविधा प्रदान की है लेकिन इन पर वाहनों का कब्जा होने से राहगीरों को सड़क पर ही चलने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। योल बाजार में मानक शाह गेट से नरवाणा पुल तक फुटपाथ की सुविधा तो है लेकिन घियारी पुल तक वाहनों का ही कब्जा रहता है। योल बाजार भीड़भाड़ वाला क्षेत्र है।

फुटपाथ पर कब्जा व हर समय बेतरतीब पार्किंग लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। रेन शेल्टर के पास भी वाहन खड़े रहते हैं। इस वजह से बाजार संकरा हो गया है और यहां पर जाम अक्सर लगता है। कैंट बोर्ड ने वैसे तो करीब एक किलोमीटर के दायरे में सड़क के दोनों ओर फुटपाथ की सुविधा प्रदान की है। फुटपाथ को निजी संपत्ति समझकर स्थानीय लोगों ने पार्किंग बना डाला है। कैंट बोर्ड के तहत सात वार्ड हैं। सड़क के आसपास हाई स्कूल, बैंक, केंद्रीय विद्यालय, एमईएस कार्यालय व नर्सिंग कालेज सहित तीन बाजार होने के कारण सैकड़ों लोगों की आवाजाही रहती है।

..

दिनभर वाहनों के खड़ा रहने से कारोबार पर विपरीत असर पड़ता है। फुटपाथ पर अतिक्रमण करने वालों को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

इंद्रजीत सेठी

..

रेन शेल्टर के पास वाहनों के खड़ा रहने से अक्सर जाम लग जाता है। बाजार में फुटपाथ की सुविधा होनी चाहिए। कब्जा करने वालों पर कार्रवाई हो।

-रमन चौधरी

..

बेशक फुटपाथ की सुविधा कैंट बोर्ड प्रशासन ने मुहैया करवाई है, लेकिन अतिक्रमण करने वालों को इस ओर ध्यान देना चाहिए।

-सुरेंद्र राणा।

..

फुटपाथ को सुचारू बनाने के लिए कैंट बोर्ड प्रशासन योजना बना रहा है। लोगों को भी जिम्मेदारी समझनी होगी।

-सुनील चौधरी, सहायक अभियंता कैंट बोर्ड ।

.

फुटपाथ पर वाहन खड़े करने वालों पर पुलिस समय-समय पर शिकंजा कसती है। लोगों से अपील की है कि यहां वाहन पार्क न करें।

-नारायण दास, प्रभारी पुलिस चौकी योल

Edited By: Jagran