बैजनाथ, जेएनएन। शिव मंदिर बैजनाथ में रविवार शाम को पूजा के बाद अखरोटों की बारिश की गई। बैकुंठ चौदह के अवसर पर मंदिर परिसर में मां पीतांबरी की पूजा करने के बाद मंत्रों का उच्चारण करते हुए पुजारियों ने अखरोटों की बारिश की। इस बारिश को देखने और अखरोट पकडऩे के लिए हजारों श्रद्धालु मंदिर पहुंचे। पूरा मंदिर भोलेनाथ के जयकारों से गूंजता रहा। इस आयोजन के लिए मंदिर कमेटी ने विशेष प्रबंध किए थे।

पुजारी सुरेंद्र शर्मा ने बताया कि अखरोटों की बारिश के दौरान जिस भक्त को यह प्रसाद हासिल होता है उसे खाने से वह पुण्य के भागी बनते हैं। सदियों से चली आ रही इस परंपरा का निवर्हन यहां हो रहा है। मान्यता है कि शंखासुर राक्षस ने देवताओं से राजपाठ छीन लिया था। भयभीत देवता भगवान ब्रह्म के पास गए। ब्रह्म के आग्रह पर भगवान विष्णु ने राक्षस का वध किया था। इसी खुशी में मंदिर में अखरोटों की बारिश की जाती है। ऐसा आयोजन पूरे भारत में यहीं होता है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस