पालमपुर, संवाद सहयोगी। आरएलए पालमपुर के वाहन पंजीकरण फर्जीवाड़े को लेकर पुलिस मामले में संलिप्त 15 लोगों के खिलाफ न्यायालय में याचिका दायर करने की तैयारी कर रही है। हालांकि मामले में अभी तक सिर्फ तीन ही गिरफ्तारियां हुई हैं, लेकिन गलत तरीके से वाहन पंजीकृत करवाने में 15 लोगों का हाथ था, जिसकी सूची एवं आरोपों के प्रमाण पुलिस ने एकत्रित किए हैं। इसमें मुख्य आरोपित रविंद्र जोकि एसडीएम कार्यालय पालमपुर में तैनात था। इसके अलावा यहां कार्यालय में आउटसोर्स पर फोटो स्टेट का काम करने वाली एक महिला कर्मचारी की भी पुलिस तलाश कर रही है। 18 फरवरी 2021 को दर्ज हुई एफआईआर में पुलिस ने करीब दो माह बाद अब चार्जशीट तैयार की है। फर्जीवाड़े की जांच के दौरान पुलिस ने अभी तक छह गाड़ियों को जब्त किया है, जबकि तीन आरोपितों को भी गिरफ्तार किया जा चुका है।

यहां बता दें कि पुलिस ने मामले में अभी तक बेंगलुरू, दिल्ली और चंडीगढ़ से छह महंगी गाड़ियों को जब्त कर लिया था, जिसमें एक करीब पौने दो करोड़ की बीएमडब्यू गाड़ी भी है। मामले में अरविंद कुमार, पवन कुमार और अनिल कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि पालमपुर में पंजीकृत हुई 110 में से 104 गाड़ियां देश के कई राज्यों में जा चुकी हैं। जिन तक पहुंचना पुलिस के लिए भी अभी आसान नहीं है, जबकि बताया जाता है कि प्रदेश में कई जगह पर हुए वाहन पंजीकरण फर्जीवाड़े में केवल पालमपुर में ही एफआइआर दर्ज हुई है।

डीएसपी पालमपुर अमित शर्मा ने कहा पुलिस ने मामले की चार्जशीट तैयार कर ली है, जिसे जल्द न्यायालय में पेश किया जाएगा। यह चार्जशीट फिलहाल पंद्रह लोगों के खिलाफ है। कहा कि पुलिस ने दफा 420, 457, 468 व 471 के तहत चार्जशीट दायर की है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021