जागरण संवाददाता, धर्मशाला : जिले में कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढ़ने लगे हैं। हालांकि एक सप्ताह पहले हर दिन 20 से 25 मामले आ रहे थे, लेकिन तीन-चार दिन से फिर बढ़ने लगे हैं। अब हर दिन 50 से 60 मामले जिले में कोरोना संक्रमण के आ रहे हैं। कोरोना संक्रमित लोगों के मरने की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। जिले में वीरवार को कोरोना संक्रमित दो लोगों की मौत हो गई, जबकि 62 नए मामले आए हैं।

डाक्टर राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल कांगड़ा स्थित टांडा में उपचाराधीन नगरोटा बगवां के 62 वर्षीय संक्रमित वृद्ध और होम आइसोलेट मालग की 75 वर्षीय संक्रमित महिला की वीरवार को मौत हो गई। सेना अस्पताल पालमपुर, धर्मशाला, ढलियारा, मंडी, इक जोत कालोनी रामनगर धर्मशाला, हाउसिग बोर्ड कालोनी धर्मशाला, नरेहड़, धलूं, अपर लंबागांव, सुजानपुर, बीड़, तपोवन, बलोल, पनियामल, भडवाल, मंदल, खनियारा, दाड़ी, कंडी, मदहोल, उड़ेल, पपरोला, बैजनाथ, जोगेंद्रनगर, भवारना, बीहण, टिक्कर, नंगल, चटवाल, डोहव, नंदेहड़, भडियाड़ा, सोहलदा, सुलह, राजा का बाग, फतेहपुर, गोलवां, लडभोड़ल के लोग संक्रमित हुए हैं।

यह जानकारी उपायुक्त डा. निपुण जिदल ने दी है। उन्होंने बताया कि जिले में सक्रिय मामले 449 हो गए हैं। सभी संक्रमित लोगों के उपचार के लिए उचित व्यवस्था की गई है। होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड मरीजों को दवाएं व आवश्यक चिकित्सा उपकरण उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाल का पालन करना जरूरी है। खांसी, जुकाम व बुखार के लक्षण होने पर नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर कोरोना टेस्ट जरूर करवाएं। उपायुक्त ने कहा कि खतरा अभी टला नहीं है। इसलिए सभी लोग एहतियात बरतें और कोविड नियमों का सख्ती से पालन करें। घर से निकलने पर मास्क जरूर लगाएं और शारीरिक दूरी भी रखें। भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों से दूरी बनाए रखें और हाथों को बार-बार साबुन या सैनिटाइजर से साफ करते रहें। नियमों का पालन करने से वैश्विक कोरोना महामारी को हराया जा सकता है।

Edited By: Jagran