कांगड़ा, संवाद सहयोगी। बूथ नंबर 30 से बूथ अध्यक्ष रमेश महेशी को बूथ अध्यक्ष की जिम्मेदारी से कांगड़ा मंडल भाजपा ने पद मुक्त कर दिया है। बूथ अध्यक्ष की जिम्मेदारी अब वार्ड चार की पार्षद अनुराधा को सौंपी गई है। कांगड़ा भाजपा मंडल की ओर से की गई कार्रवाई से कांगड़ा भाजपा की लड़ाई जहां ओर बढ़ने की संभावना बन गई है। वहीं मंडल भाजपा अपनी कार्रवाई को सही बता रही है।

कांगड़ा मंडल भाजपा का तर्क है कि ऐसे पदाधिकारियों को हटाना जरूरी है जो कि पिछले कुछ वर्षो से निष्क्रिय हो चुके हैं। रमेश महेशी की गिनती कांगड़ा भाजपा से पुराने कार्यकर्ताओं में होती है। जिन्होंने कांगड़ा में भाजपा को खड़ा किया था। रमेश महेशी कांगड़ा भाजपा के शहरी अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी मिली थी लेकिन पिछले कुछ दिनों से कांगड़ा मंडल भाजपा से नाराज चल रहे थे।हालांकि एकाएक महेशी को हटाने से कांगड़ा भाजपा में विवाद बढ़ सकता है। अगर इस घटना को तूल मिला तो मंडल कांगड़ा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। हालांकि संगठन के मुताबिक संगठन मिशन रिपीट के लिए संगठन को चुस्त दुरुस्त कर रहा है, निष्क्रिय पदाधिकारियों के स्थान पर काम करने वाले लोगों को आगे लाया जा रहा है। लेकिन भाजपा को यह भी देखना होगा कि कहीं कहीं संगठन को चुस्त दुरुस्त करते वक्त मुख्य नींव ही न हिल जाए।

भाजपा ने स्वास्थ्य मंत्री से की रिक्त पदों को भरने की मांग

कांगड़ा भाजपा मंडल का एक प्रतिनिधिमंडल जिला परिषद अध्यक्ष रमेश बराड़ की अध्यक्षता में प्रदेश स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल से मिला। मंडल भाजपा अध्यक्ष सतप्रकाश सोनी ने बताया कि कांगड़ा सिविल अस्पताल में डाक्टरों के रिक्त पद भरने का ज्ञापन दिया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में स्त्री व शिशु रोग विषेशयज्ञ तैनात करने की मांग भी की। इस दौरान पूर्व विधायक संजय चौधरी, जिला संयोजक स्वास्थ्य सेवक संघ ठाकुर हलिन्द्र गिरी राज, प्रदेश भाजपा सचिव वीरेंद्र चौधरी, मनोनीत पार्षद सुरेश पार्षद सहित कई भाजपा पदाधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Richa Rana