अम्ब, संवाद सहयोगी। Una News, ऊना जिला के मुबारिकपुर के घेवट बेहड़ में एक महिला की वालियां चुराने के इरादे से छीना झपटी करने के एक मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी कोर्ट नंबर दो अम्ब विशाल तिवारी की अदालत ने आरोपित को दोषी मानते हुए तीन वर्ष के कारावास व दस हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। कोर्ट के आदेश के अनुसार जुर्माना अदा न करके की सूरत में दोषी को छह महीने का अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा।

केस की पैरवी कर रही सहायक जिला न्यायवादी शिखा राणा ने बताया कि पुलिस थाना अम्ब में दर्ज हुए केस के तहत शिकायतकर्ता महिला रानी पत्नी विजय कुमार निवासी घेवट बेहड़ 19 जून, 2015 को करीब साढ़े 11 बजे घर से अम्ब बाजार आई हुई थी। रानी साढ़े तीन बजे जब मुबारिकपुर में बस से उतरकर वापस अकेली ही पैदल सड़क किनारे अपने घर जा रही थी तो मुबारिकपुर से करीब एक किलोमीटर आगे घेवट बेहड़ के पास पहुंची तो उसके पीछे से एक बाइक चालक उसे क्रास करके करीब 100 मीटर आगे रुका और अपनी बाइक खड़ी करके वापस उसकी तरफ पैदल आया और उसके कानों से वालियां छीनने लगा। इसी बीच मुबारिकपुर की तरफ से बाइक पर दो लड़के आए और उन्होंने आरोपित श्याम लाल को मौके पर ही दबोच लिया। इसके बाद पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार करके इस केस के संबंध में कोर्ट में चालान पेश किया था।

तेज रफ्तार ट्रक ने जालंधर के श्रद्धालु की कार को मारी टक्कर

मुबारिकपुर-भरवाईं रोड पर घेवट बेहड़ में एक तेज रफ्तार ट्रक ने श्रद्धालुओं की कार को टक्कर मार दी। एक मोड़ पर हुए इस हादसे में कार को नुकसान पहुंचा है, जबकि उसमें सवार श्रद्धालु सुरक्षित हैं। हादसे की सूचना मिलने पर पुलिस ने आरोपित ट्रक चालक के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने के आरोप में केस दर्ज कर लिया है।

बलराज गुप्ता पुत्र लेख राज निवासी मकान नंबर 329 न्यू जवाहर नगर, जालंधर ने पुलिस को दी शिकायत में कहा है कि वीरवार शाम को कार में रिश्तेदार के साथ चिंतपूर्णी माता के मंदिर में माथा टेकने जा रहा था। इसी बीच घेवट बेहड़ के जंजघर के पास पहुंचा, तो चिंतपूर्णी की तरफ से एक ट्रक तेज रफ्तार में आया और गाड़ी को ड्राइव साइड से टक्कर मार दी। हादसे में उन्हें चोट नहीं लगी पर उनकी कार को काफी नुक्सान हुआ है।

उधर, थाना प्रभारी अम्ब आशीष पठानिया ने बताया कि पुलिस ने मामले की शिकायत मिलने पर आरोपित ट्रक चालक के खिलाफ केस दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है।

शुक्रवार को कोर्ट ने दोनों पक्षों की सभी दलीलों को मद्देनजर रखते हुए आरोपित श्याम लाल निवासी माकड़ी तहसील नयनादेवी जिला बिलासपुर को दोषी मानते हुए तीन वर्ष के कारावास के साथ 10 हजार रुपये जुर्माना भरने की सजा सुनाई है। दोषी को जुर्माना न भरने की सूरत में छह महीने का अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा।

Edited By: Virender Kumar