ऊना, जागरण संवाददता। Una Crime News, जिला ऊना के बंगाणा उपमंडल के जटेहड़ी स्कूल में चतुर्थ श्रेणी महिला कर्मचारी को चाय न बनाने पर थप्पड़ मारने, शिकायत पर बंगाणा थाना में हंगामा करने व एएसआइ के गिरेबान पर हाथ डालने के आरोपित प्रवक्ता को पुलिस ने गिरफ्तार करने के कुछ समय बाद ही जमानत पर छोड़ दिया है। वीरवार को आरोपित ने थाने में पंचायत प्रतिनिधियों से भी धक्कामुक्की की थी। आरोप है कि पुलिस व अन्य लोगों पर गाड़ी चढ़ाने का भी प्रयास किया था। लोगों ने सवाल उठाया है कि पुलिस ने आरोपित प्रवक्ता को मामला दर्ज करने के कुछ समय बाद ही क्यों छोड़ दिया।

बंगाणा थाने में हुआ घटनाक्रम इंटरनेट मीडिया पर भी प्रसारित हो रहा है। वीडियो में प्रवक्ता के व्यवहार को देखकर लग रहा है कि उसे पुलिस व जनता का कोई डर नहीं है। वीडियो में प्रवक्ता एएसआइ के गिरेबान पकड़कर हाथापाई करता दिख रहा है। एएसआइ को अन्य लोगों ने प्रवक्ता के चंगुल से छुड़ाया। सवाल उठाया जा रहा है कि इतना सब कुछ होने के बावजूद पुलिस ने क्यों ऐसी धाराओं में मामला दर्ज किया कि वह जमानत पर छूट गया।

  • पुलिस ने वीडियो में आरोपित की भूमिका को लेकर मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की गहन जांच में जुटी है।

-अंकित शर्मा, डीएसपी ऊना।

बचाव करते पुलिस से हुई हाथापाई : रणजीत

हमीरपुर जिले के धनेटा के साथ लगते मनसाई गांव के रहने वाले आरोपित प्रवक्ता रणजीत सिंह ने बंगाणा में कहा कि पुलिस व जनप्रतिनिधियों से हाथापाई स्वयं के बचाव में हुई है। प्रतिनिधियों व पुलिस ने उस पर हमला कर दिया था।

प्रवक्ता को स्कूल से हटाए विभाग

सिंहाणा पंचायत प्रधान सुनील कुमार व उपप्रधान रणजीत सिंह ने कहा कि आरोपित प्रवक्ता को स्कूल प्रशासन व शिक्षा विभाग तुरंत पाठशाला से हटाए। जो प्रवक्ता पंचायत प्रतिनिधियों व पुलिस से हाथापाई पर उतारू हो रहा है वह बच्चों को कभी भी नुकसान पहुंचा सकता है। पुलिस पंचायत प्रतिनिधियों व महिला से हुए दुव्र्यवहार पर प्रवक्ता के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर सकी है। जमानत पर छूटकर आरोपित घर में आराम फरमा रहा है।

उधर, स्कूल प्रबंधन व जिला प्रवक्ता संघ ने भी प्रवक्ता की इस हरकत की निंदा की है। प्रवक्ता संघ के अध्यक्ष संजीव पराशर ने कहा कि पता चला है कि प्रवक्ता का मानसिक संतुलन ठीक नहीं है। संघ के पदाधिकारी उससे मिलने के लिए गए थे लेकिन उससे बात नहीं हो पाई। मारपीट करना किसी समस्या का समाधान नहीं है। दोनों पक्षों को बैठकर मामला सुलझाना चाहिए। रीइंपलाइड सेवानिवृत्त यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष प्रेम सौंखला ने बताया कि प्रवक्ता कुछ समय से मानसिक परेशान चल रहा है। स्वजन के अनुसार उसका उपचार जारी है। फिर भी जो घटनाक्रम हुआ है, वह उचित नहीं है।

Edited By: Virender Kumar