शिमला, जेएनएन। छात्र-अभिभावक मंच निजी स्कूलों की फीस व अन्य मुद्दों को लेकर पांच मार्च को विधानसभा का घेराव करेगा। प्रदर्शन में प्रदेश भर से अभिभावक भाग लेंगे। प्रदर्शन के दौरान निजी स्कूलों की प्रवेश प्रक्रिया व पाठ्यक्रम को संचालित करने के लिए कानून बनाने, नियामक आयोग गठित करने, ट्यूशन फीस के साथ वार्षिक शुल्क लेने, किताबें, कॉपियों के नाम पर होने वाली ठगी मुख्य मुद्दे होंगे।

मंच के संयोजक विजेंद्र मेहरा, सदस्य सुरेश सरवाल, भुवनेश्वर शर्मा, अजय वैद्य, विशाल मेहरा, आशीष भारद्वाज, पृथ्वीराज, अतुल राजपूत, जयंत पाटिल, अशोक कुमार, फालमा चौहान व विवेक कश्यप ने कहा कि निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ आंदोलन तेज होगा। उन्होंने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर उसने वर्तमान बजट सत्र में निजी स्कूलों को संचालित करने के लिए कानून नहीं लाया तो निर्णायक आंदोलन होगा।

उन्होंने सरकार से मांग उठाई कि 10 नवंबर व आठ दिसंबर 2020 की छात्र व अभिभावक विरोधी अधिसूचनाओं को तुरंत रद किया जाए। उन्होंने उपायुक्तों की अध्यक्षता में गठित शिकायत निवारण कमेटियों को सफेद हाथी करार दिया है। आरोप लगाया कि इन कमेटियों से स्कूल प्रबंधकों को ही फायदा होने वाला है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021