घुमारवीं, मनीष गर्ग। जिला बिलासपुर में नशे के सौदागरों पर बिलासपुर की एसआइयू ने शिकंजा कसा है। बिलासपुर की एसआइयू के हेड कांस्टेबल अनिल कुमार शर्मा के नेतृत्व में मंगलवार रात को एक और बड़ी कामयाबी पाई है। हेड कांस्टेबल अनिल कुमार शर्मा अनवेषण अधिकारी एसआइयू जिला बिलासपुर के नेतृत्व हेड कांस्टेबल केवल किशोर, आरक्षी बाबूराम, आरक्षी चंचल सिंह, आरक्षी मनीष कुमार के साथ शिकंजा कसा।

घुमारवीं के नसवाल मेें राष्ट्रीय उच्चमार्ग 103 पर पेट्रोल पंप के पास रात 10 बजे नाके के दौरान एक आल्टो के-10 कार एचपी 23-4869 गाड़ी की तलाशी ली। चालक और एक अन्य शख्स कार में सवार थे व पुलिस को देखकर दोनों हड़बड़ाकर  पिछली सीट की तरफ देखने लगे, जिससे टीम को इन पर शक हुआ। गाड़ी की तलाशी लेने पर पिछली सीट पर गत्ते की पेटी में 100  प्रतिबंधित शीशियां बरामद की।

गाड़ी चालक सुनील शर्मा पुत्र बलदेव राज शर्मा गांव सौग डाकघर डंगार तहसील घुमारवीं जिला बिलासपुर व गाड़ी में सवार अन्य व्यक्ति का नाम शेर सिंह पुत्र कश्मीर सिंह गांव व डाकघर बरोट्टा तहसील घुमारवीं जिला बिलासपुर प्रबंधित दवाओं का कोई भी बिल पेश न कर सके। इस पर टीम ने मादक पदार्थ अधिनियम के तहत मामला दर्जकर उन्हें गिरफ्तार कर पुलिस के हवाले कर दिया।

एसआइयू अन्वेषण अधिकारी हेड कांस्टेबल अनिल कुमार शर्मा ने बताया पांच वर्ष में नशीली दवाओं की यह सबसे बड़ी खेप है, जिसमें की अभियुक्त को कम से कम 10 वर्ष की सजा हो सकती है। घुमारवीं थाने के एसएचओ राकेश राय ने बताया एनटीपीसी एक्ट में मामला दर्ज कर तफ्तीश की जा रही है।

Posted By: Rajesh Sharma