जेएनएन, बैजनाथ। ब‍िल‍िंग घाटी में पैराग्‍लाइड‍िंग हादसों का सिलस‍िला फ‍िर शुरू हो गया है। ब‍िल‍िंग से उड़ान भरने के बाद सोमवार सायं लापता हुए स‍िंगापुर के पायलट की मौत हो गई है। बैजनाथ के उतराला की उपरी पहाड़‍ियों में ब‍िग फेस एर‍िया में इस पायलट की सोमवार सायं को क्रैश लैड‍िंग हुई थी। स‍िंगापुर के इस पायलट का नाम कोक चांग, उम्र 53 साल है। 

बताया जा रहा है क‍ि स्‍पेन के एक लापता पायलट की तलाश में उतराला मार्ग से जा रही एक टीम को यह पायलट म‍िला। इसकी मौत हो चुकी थी। यह स‍िंगापुर में आर्मी का एक्‍स कमांडो रह चुका है। हालांक‍ि इस माह ब‍िल‍िंग से उड़ान भरने के बाद कई फ्री फ़लायर पायलट दुर्गम क्षेत्रों में क्रैश लैड‍िंग के पास फंस चुके हैं।

लेकिन इस बार यह पहली मौत है। जब एक पायलट हादसे का श‍िकार हुआ है। वहीं, देर सायं रश‍िया के एक पायलट को भी टीम ने बचाया है। लेक‍िन थमसर व जालसू पास के न‍िकट फंसे स्‍पेन के एक पायलट को अभी नहीं न‍िकाला जा सका है।

 

Posted By: Munish Dixit

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस