शिमला, जागरण संवाददाता। बर्फबारी के दौरान कुफरी के रास्ते में सैकड़ों सैलानियों को निकालने में फंसी रही ढली पुलिस की परेशानी पानी के बिल ने बढ़ा दी है। शिमला जल प्रबंधन निगम ने ढली पुलिस थाने को सात लाख 42 हजार का पानी का बिल जारी किया है। अब पुलिस अधिकारी से लेकर कर्मचारी बिल को समायोजित करवाने के लिए लगातार चक्कर काट रहे हैं। हालांकि जल प्रबंधन निगम की ओर से तर्क दिया जा रहा है कि पुलिस थाने का बिल कमर्शियल है।

वहीं थाने के सभी कर्मचारियों के घरों में इसका पानी इस्तेमाल किया जा रहा है। इस बारे में पुलिस अधिकारियों को पहले ही कनेक्शन अलग करने के लिए अवगत करवा दिया था, लेकिन इसमें किसी तरह का बदलाव पुलिस प्रशासन ने नहीं किया। कमर्शियल दर ज्यादा होने के कारण बिल की राशि बढ़ जाती है। वहीं थाने के साथ घरों में इसके इस्तेमाल से पानी की रीडिंग भी ज्यादा रहती है। इससे पानी के बिल की राशि कई गुना ज्यादा हो जाती है।

शिमला जल प्रबंधन निगम के एजीएम विजय गुप्ता ने माना कि थाने को सात लाख से ज्यादा बिल आया है। इन्होंने पानी का ज्यादा इस्तेमाल किया है। वहीं जिन लोगों के बिल में गलती है, उसे सुधारा जा रहा है। जिन लोगों ने पानी का इस्तेमाल कर वर्षों से बिल नहीं दिया है, उन्हें भुगतान करना ही पड़ेगा।

ढली में कुछ उपभोक्ताओं को तीन लाख का बिल

ढली क्षेत्र में कुछ उपभोक्ता ऐसे हैं, जिन्हें तीन लाख का बिल जारी किया गया है। इसमें एक उपभोक्ता तो ऐसा है जिसने तीन साल से बिल ही अदा नहीं किया है। इनकी एरियर राशि को मिलाकर तीन लाख रुपये बने हैं, लेकिन कुछ लोगों को एक लाख का बिल जारी किया है। जल प्रबंधन निगम के कार्यालय में अब लोग लगातार बिल सैटल करवाने के लिए पहुंच रहे हैं।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस