कुल्लू, संवाद सहयोगी। Himachal Flash Flood, जिला कुल्लू की पर्यटन नगरी मणिकर्ण घाटी के ब्रह्मगंगा नाले में आई बाढ़ चार लोगों को बहा ले गई है। लेकिन अभी तक चारों में से किसी का भी कोई सुराग नहीं लग पाया है। सुबह से पुलिस की रेस्क्यू टीमें मणिकर्ण से पंडोह तक लगातार जांच में जुटी हुई हैं। इसमें नदी किनारे जाकर छानबीन कर रहे हैं हो सकता है कि पानी के बहाव के कारण इनमें से कोई नदी किनारे मिल जाए। उधर 24 घंटे बीतने के बाद भी अभी तक किसी का कोई अता पता नहीं चल पा रहा है। इस कारण चारों लोगों के स्वजन परेशान हैं। गाजियाबाद से विनीता उर्फ विन्नी के परिजन भी परेशान हैं व कुल्‍लू पहुंच गए हैं।

परिजनों ने प्रदेश सरकार से विनीता को खोजने की मांग की है। हालांकि इस मामले को लेकर प्रदेश सरकार की ओर से शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर भी परिजनों से मिल चुके हैं। उन्होंने भी इस दुर्घटना में बहे लोगों को खोजने के लिए अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी किए हैं। मणिकर्ण घाटी में सुबह से ग्रामीण स्थानीय रेस्क्यू दल के साथ खोए हुए लोगों को खोजने में जुटे हैं।

आज सुबह से ही ग्रामीणों ने अपनी अलग अलग टीमें बनाकर लारजी, पंडोह और मणिकर्ण तक छानबीन कर रहे हैं। उधर चार साल के बेटे समेत लापता महिला के ससुर रोशन लाल ने कहा काश मेरा पोता और बहु कोई खोज दे, मेरे हंसते खेलते परिवार को किसकी नजर लग गई। उन्होंने कहा हम अपने स्तर पर भी उन्हें ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं।

ब्रह्मगंगा नाले में बहे हैं ये लोग

ब्रह्मगंगा नाले में 25 वर्षीय विनीता चौधरी उर्फ विन्नी पुत्री विनोद डगर निवासी निस्तौली नजदीक टिला मोड, लोनी रोड़ गाजियाबाद, 26 वर्षीय पूनम पत्नी रोहित कुमार निवासी ब्रह्मगंगा मणिकर्ण और पूनम का चार वर्षीय बेटा निकुंज पुत्र रोहित कुमार निवासी ब्रह्मगंगा मणिकर्ण और वीरेंद्र पुत्र तिर्थ राम निवासी शांगना मणिकर्ण भी लापता है। वीरेंद्र प्रोजेक्ट में कार्य करता था और सुबह छह बजे डेक साइट पर जा रहा था। उसी समय से लापता है।

क्‍या कहते हैं एसपी

पुलिस अधीक्षक कुल्‍लू गुरदेव शर्मा ने कहा मणिकर्ण घाटी के ब्रह्मगंगा नाले में बहे लोगों की तलाश की जा रही है। इसमें पुलिस की टीमें लगातार जांच कर रही है। लेकिन अभी तक किसी का कोई सुराग नहीं लग पाया है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma