धर्मशाला, जागरण संवाददाता। जिला कांगड़ा में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से लगाए गए नाइट कर्फ्यू और शनिवार व रविवार को आवाजाही पर पूर्ण प्रतिबंध को लागू करने की जिम्मेवारी जिला प्रशासन ने एसडीएम को सौंपी है। इसके साथ ही सभी एसडीएम को निर्देश जारी किए गए हैं कि वह उपमंडल स्तर पर क्षेत्र के हिसाब से टास्क फोर्स गठित करें। यह टास्क फोर्स कोविड नियमों को लागू करवाएगी। इसको लेकर टास्क फोर्स अपने अधीन क्षेत्रों में नियमित रूप से गश्त करेगी।

इसके साथ ही यह बात भी स्पष्ट की गई है कि एसडीएम अपने उपमंडल की भुगौलिक स्थिति के हिसाब से ही टास्क फोर्स का गठन करेगी। ऐसा नहीं है कि उपमंडल स्तर पर एक ही फोर्स गठित होगी। अगर एसडीएम को लगता है तो एक से अधिक टीमों का भी गठन किया जा सकता है। टीमों को उनके क्षेत्र बांट दिए जाएंगे और टीमों को रोज शाम एसडीएम को रिपोर्ट करनी होगी।

इसके लिए जिला प्रशासन  ने पंचायत राज प्रतिनिधियों व कर्मचारियों को एसडीएम के अधीन कर दिया है। टीम के पंचायती राज विभाग के कर्मचारियों को भी शामिल किया जाएगा। वहीं जवाली के तहत पड़ते बाथु की लड्डी क्षेत्र में पिछले दो सप्ताह से पर्यटक घूम रहे हैं। हालांकि पहले वर्ड फ्लू के चलते वह क्षेत्र प्रतिबंधित किया गया था, लेकिन इसके बावजूद लोग वहां पहुंच रहे थे। ऐसे में अब जिला प्रशासन ने एसडीएम जवाली का आदेश दिए हैं कि वहां पर पुलिस गश्त करवा जाए, ताकि लोग वहां न आने पाएं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021