शिमला, जागरण टीम। भारतीय जनता पार्टी के कोषाध्यक्ष संजय सूद ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने सदैव महिला सशक्‍तीकरण को प्राथमिकता दी है और भाजपा समानता के विचार पर विश्वास रखती है। भारतीय जनता पार्टी ने विभिन्न कार्याें व योजनाओं के माध्यम से महिला सशक्‍तीकरण के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रयासरत रही है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने हमेशा से महिला सशक्‍तीकरण प्राथमिकता रही है। भाजपा समानता के विचार में विश्वास करती है और यह राज्य में भाजपा सरकार के कार्याें के माध्यम से परिलक्षित होता है।

उन्होंने कहा कि महिलाओं की राजनीतिक भागीदारी बढ़ाने के लिए हिमाचल प्रदेश में पंचायती राज संस्थानों (पीआरआई) और शहरी स्थानीय निकायों (यूएलबी) में महिलाओं को भाजपा सरकार ने 50 प्रतिशत आरक्षण प्रदान किया गया है। भाजपा सरकार ने प्रदेश में महिलाओं के लिए सुरक्षित माहौल तैयार किया है जिसके परिणामस्‍वरूप 15 से 59 आयु वर्ग की जनसंख्या में महिला श्रम शक्ति की भागीदारी में हिमाचल प्रथम स्थान पर है। 2022-23 में कुल विकास बजट का 18.32 फीसदी महिला प्रधानों को योजनाओं के लिए आवंटित किया गया यह महिला सशक्‍तीकरण का महत्वपूर्ण उदाहरण है। भाजपा कार्यकाल में स्वयं सहायता समूह के गठन में कई गूना वृद्धि हुई जहां वर्ष 2015-16 में कांग्रेस कार्यकाल के दौरान 2934 स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया

वहीं भाजपा सरकार के दौरान वर्ष 2020-21 तक 5247 स्वयं सहायता समूह का गठन किया गया जिससे महिलाओं को स्वरोजगार के अवसर प्राप्त हुए हैं। जिससे ग्रामीण परिवेश में महिलाओं की आर्थिक स्थिति मजबूत हुई है। उन्होंने कहा कि नारी को नमन योजना के अंतर्गत प्रदेश की बसों में महिलाओं का किराया आधा किया गया, बेटी है अनमोल योजना के अंतर्गत लैंगिक समानता के विचार को बढ़ावा देने के लिए भाजपा सरकार ने 2017-18 में जो अनुदान 10,000 रुपये दिया जाता था, उसे बढ़ाकर 21,000 रुपये कर दिया है। इस योजना के तहत 1,07,823 बेटियां लाभान्वित हुई है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना के तहत अभी तक कुल 4.35 लाख परिवारों को गैस कनेक्शन दिए गए है, दो अतिरिक्त मुफ्त रिफिल गैस सिलेंडर भी दिए जा रहे हैं। अब तक 2.67 लाख लाभार्थियों को पहला एवं 89 हजार लाभार्थियों को दूसरा अतिरिक्त मुफ्त रिफिल गैस सिलेंडर दिया गया है। संजय सूद ने कहा कि राजशाही की दमनकारी नीतियों से ऊपर उठकर, भाजपा ने लोकतान्त्रिक व्यवस्था को सेवा का आधार बनाया। प्रदेश में मुख्यमंत्री शगुन योजना के तहत बीपीएल परिवारों की कन्याओं को विवाह के लिए 31,000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता एक तरफ नारी के सम्मान की बात करती है और दूसरी तरफ खुद नारी का अपमान करती है। इनको कांग्रेस शासित दूसरे राज्य जैसे की राजस्थान में महिलाओं पर बढ़ते अत्याचार दिखाई नहीं दे रहे हैं जहां महिलाओं पर होने वाले अपराधों में कई गुणा की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। महिला शक्ति ने ठाना है की फिर से भाजपा को जीता का रिवाज बदलना है।

Edited By: Richa Rana

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट