शिमला, राज्य ब्यूरो। केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को तो सब लागू कर रहे हैं और लोगों तक पहुंचा रहे हैं, लेकिन व्यवस्था और लोगों तक पहुंच बनाने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तरह होना चाहिए। विधानसभा के विशेष सत्र में भाग लेने के लिए पहुंचे पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डा. राधारमण शास्त्री ने यह बात कही।

वहीं पूर्व विधायक मोहिंद्र कुमार सोफ्त ने कहा कि हिमाचल के विकास में सभी पूर्व सरकारों ने योगदान दिया है। उसकी परिणाम है कि प्रदेश विकास में इस स्तर पर पहुंचा है। हर विधायक को मर्यादित होकर बातचीत करनी चाहिए। विकास योजनाएं जन-जन तक पहुंचाई जा रही हैं।

पूर्व विधायक चिरंजीलाल कश्यप ने कहा कि तब डिजिटल नहीं था और अब पेपरलैस है। सरकार के इस कार्यक्रम से पुराने साथियों से मेलमिलाप और मान-सम्मान हो गया। वर्तमान की विधानसभा को देखने को मौका मिल है।

विकास के लिए पैसा जरूरी : सुषमा

पूर्व विधायक सुषमा शर्मा ने कहा कि उनके समय में सरकारों के पास बजट और पैसा ही कम होता था। अब बजट भी है तो विकास तो होगा ही। विकास के लिए पैसा जरूरी है।

वहीं पूर्व विधायक मनजीत ङ्क्षसह डोगरा ने कहा कि प्रदेश के दुर्गम क्षेत्रों जैसे चंगर की समस्याएं अलग हैं। इसके लिए अलग से सोचने की जरूरत है।

रेल व हवाई सेवाओं का विस्तार हो : रघुवीर

पूर्व विधायक रघुवीर ङ्क्षसह ने कहा जनजातीय क्षेत्रों के बजट में वृद्धि हुई है जो विकास की दृष्टि से बहुत अच्छा है। रोहतांग टनल के बनने से पर्यटन के द्वार खुले हैं। पर्यटन की गति को और बढ़ाने की जरूरत है, जिसके लिए रेल और हवाई सेवाओं का विस्तार जरूरी है।

Edited By: Virender Kumar