धर्मशाला, संवाद सहयोगी। आंखें भगवान द्वारा मनुष्य को दी एक अनमोल देन है अत: इसकी उचित देखभाल करें। अपने आहार में फल तथा सब्जियों को प्रचुर मात्रा में शामिल करें, जिससे हमें भरपूर मात्रा में विटामिन ए मिल सके जोकि आंखों के स्वास्थ्य के लिए अति आवश्यक है। अपनी दिनचर्या में व्यायाम को भी शामिल करें। इसके साथ साथ मोबाइल फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि का प्रयोग आवश्यकता होने पर ही करें।

अगर आप लगातार इन उपकरणों पर काम कर रहे हैं तो थोड़ी देर के लिए अपनी आंखों को आराम जरूर दें साथ ही समय-समय पर आंखों की जांच जरूर करवाएं, ताकि समय रहते कोई भी आंखों की बीमारी हो को पता चल सके। ये जानकारी जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. गुरमीत कटोच ने स्वास्थ्य विभाग के सौजन्य से चिकित्सा खंड भवारना के तहत खैरा में विश्व दृष्टि दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में दी। कार्यक्रम में खंड चिकित्सा अधिकारी डा. दिलावर देओल ने आंखों की आम बीमारियों के बारे में जानकारी दी तथा लोगों से आग्रह किया कि अपनी आंखों की नियमित जांच करवाएं। चिकित्सा अधिकारी खैरा डा. अपराजिता ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

ओफथैलेमिक ऑफिसर जितेंद्र माटा द्वारा उपस्थित लोगों की आंखों की जांच भी की गई। कोरोना महामारी को देखते हुए स्वास्थ्य शिक्षिका अंजली तथा बीरबल ने लोगों को कोरोना के बारे में जानकारी दी तथा उनसे आग्रह किया कि अगर उन्होंने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लगाई है तो उसे अति शीघ्र लगवाएं तथा बाकी लोगों को भी जागरूक करें। करोना अभी गया नहीं है अत: कोविड अनुरूप व्यवहार अपनाएं। स्वयं भी सुरक्षित रहें तथा औरों को भी सुरक्षित रखें। इस कार्यक्रम में स्कूली बच्चों, अध्यापकों तथा आम लोगों ने भाग लिया।

मोबाइल, कंप्यूटर व लैपटॉप पर काम करने के लिए अपनाएं ट्रिप्पल-20 रूल

यदि आप मोबाइल, कंप्यूटर व लैपटॉप पर काम कर रहे हैं तो अपनी आंखों को विपरीत प्रभाव से बचाने के लिए ट्रिप्पल-20 रूल फालो करें। ट्रिप्पल-20 रूल के तहत 20 मिनट बाद, 20 सेकेंड के लिए 20 फुट दूर देखें और बार-बार अपनी आंखों को झपकें।

Edited By: Richa Rana