पालमपुर, जेएनएन। शहीद कैप्टन विक्रम बतरा राजकीय महाविद्यालय पालमपुर में अब शिक्षक और विद्यार्थी मोबाइल फोन का प्रयोग नहीं कर पाएंगे। महाविद्यालय प्रशासन ने शुक्रवार को सभी प्राध्यापकों और कर्मचारियों के साथ आपात बैठक कर यह फैसला लिया। परिसर में अब कोई भी अपने मोबाइल फोन का प्रयोग नहीं करेगा। अगर कोई मोबाइल फोन का प्रयोग करते हुए पाया जाता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

दूसरी तरफ कॉलेज के पीटीए कर्मचारी की टिकटॉक वीडियो को लेकर जांच कमेटी ने अपनी जांच आरंभ कर दी है। कमेटी के सदस्यों ने टिकटॉक वीडियो में जो भी छात्र-छात्राएं हैं उन सभी से पूछताछ की है। इनसे यह पता लगाया जा रहा है कि इन वीडियो को कब और किसने बनाया है। कमेटी ने रिपोर्ट को शनिवार को प्राचार्य को सौंपना है। इसके बाद आगामी कार्रवाई होगी। कॉलेज परिसर में इस सारे घटनाक्रम के दौरान शिक्षकों के भी टिकटॉक बनाए जाने की बात को बताया जा रहा है।

ऐसे में एक शिक्षक की जिस प्रकार से वीडियो सामने आई है वह किसी की शरारत है जिसने पीछे से वीडियो को बनाते हुए बाद में उसका टिकटॉक बना दिया। यही कारण है कि कॉलेज प्रशासन ने सारे मामले में शिक्षकों को भी जहां मोबाइल के प्रयोग पर पाबंदी लगा दी है, वहीं विद्यार्थियों को भी मोबाइल फोन के प्रयोग पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है। हालांकि मोबाइल बैन करने से कॉलेज प्रशासन को अपने सरकुलर शिक्षकों को जारी करने में दिक्कत खड़ी हो सकती है। मोबाइल पर शिक्षकों की ओर से वाट्सएप ग्रुप पर सभी नोटिस और निर्देशों को डाला जाता है। जिसे शिक्षक देखने के बाद अपनी ड्यूटी और अन्य कार्यो को उसी के मुताबिक करते हैं। मगर मोबाइल बैन होने से अब सारी कागजी कार्रवाई होगी।

रिपोर्ट मिलने के बाद होगी कार्रवाई प्राचार्य डॉ. सुजीत सरोच ने बताया कि कॉलेज परिसर में सभी के मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। शिक्षक और विद्यार्थी अब कॉलेज परिसर में मोबाइल का प्रयोग नहीं करेंगे। उन्होंने बताया कि जांच कमेटी शनिवार को अपनी रिपोर्ट उन्हें सौंपेगी, जिसके बाद कार्रवाई की जाएगी। एबीवीपी ने वीडियो वायरल करने वालों पर मांगी कार्रवाई टिकटॉक वीडियो मामले को लेकर छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने भी कॉलेज प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर उन युवाओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है जिन्होंने वीडियो को वायरल किया है। इकाई अध्यक्ष अभिषेक और सचिव अतुल ने बताया कि शुक्रवार को परिषद ने इस मामले को लेकर ज्ञापन भी दिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस